टोंक राजस्थान

जलदाय विभाग के बाबू 70 वर्षीय एक बुजुर्ग को 1 माह से कटवा रहे है चक्कर, नल कनेक्शन में नाम परिवर्तन का है मामला

टोंक (फ़िरोज़ उस्मानी। जलदाय विभाग की मनमानी के चलते उपभोक्ता विभाग के चक्कर काटने पर मजबूर है। नए पानी के कनेक्शन का मामला हो या अन्य कार्य। जलदाय विभाग के कर्मचारियों की उदासीनता के चलते आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ऐसे ही मामले में पिछले 1 माह से 70 वर्षीय मोहम्मद आरिफ पुत्र मोहम्मद यूसुफ निवासी शागिर्द पेशा बिल में नाम परिवर्तन को लेकर चक्कर काटने पर मजबूर है। मोहम्मद आरिफ का कहना है कि उनके पानी के कनेक्शन का बिल पुराने मकान मालिक के नाम ही चल रहा है।

अब वो पानी का बिल अपने नाम करवाना चाहते है, जिसके लिए उन्होंने सभी प्रकार की विभागीय खानापूर्ति कर दी है। जिसकी फ़ाइल भी 1 माह होने के बाद भी नाम नही बदला गया है। जेईएन के आदेशों के बाद भी जलदाय विभाग के बाबू ईश्वर व शकील की उदासीनता के चलते कार्य नही हो पा रहा है। जब वो कार्यलय जाते है तो दोनों ही कोई भी जवाब नही देते है।

आमजन से उनका व्यवहार भी सही नही है। जिसके चलते आमजन जलदाय विभाग के चक्कर काटने पर मजबूर है।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।