औरंगजेब के दो भाई सेना में भर्ती

नई दिल्ली  जम्मू-कश्मीर के राजोरी में शहीद जवान औरंगजेब के परिवार के लिए सोमवार का दिन खुशी लेकर आया है. औरंगजेब के अपहरण और हत्‍या के 13 महीने बाद उनके दो भाई शहादत का बदला लेने के लिए सेना में शामिल हो गए हैं. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि मोहम्मद तारिक और मोहम्मद शब्बीर जम्मू …

औरंगजेब के दो भाई सेना में भर्ती Read More »

July 24, 2019 3:34 pm

नई दिल्ली 

जम्मू-कश्मीर के राजोरी में शहीद जवान औरंगजेब के परिवार के लिए सोमवार का दिन खुशी लेकर आया है. औरंगजेब के अपहरण और हत्‍या के 13 महीने बाद उनके दो भाई शहादत का बदला लेने के लिए सेना में शामिल हो गए हैं.
रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि मोहम्मद तारिक और मोहम्मद शब्बीर जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में सोमवार को आतंकवाद रोधी बल ‘रोमियो’ के मुख्यालय में ‘पासिंग आउट परेड’ में प्रादेशिक सेना की 156 वीं इंफैंट्री बलाटियन में भर्ती हुए. वे दोनों कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ में शामिल होने और देश के दुश्मनों से लड़ने के इच्छुक हैं.
उनके पिता मोहम्मद हनीफ भी थल सेना में सेवा दे चुके हैं. दो बेटों के सेना में भर्ती होने पर पिता ने कहा, ‘मैंने अपने बेटों को भारतीय थल सेना में सेवा देने और उनके भाई औरंगजेब की आतंकवादियों द्वारा की गई हत्या का बदला लेने तथा आतंकवाद का खात्मा सुनिश्चित करने के लिए भेजा है.’
हनीफ ने कहा, ‘आतंकवाद के खिलाफ इनकी लड़ाई उनके शहीद बेटे को श्रद्धांजलि होगी.’ गौरतलब है कि औरंगजेब को पुलवामा से अगवा कर लिया गया था और बाद में 14 जून 2018 को आतंकवादियों ने उनकी हत्या कर दी थी. उस वक्त वह अपने परिवार के साथ ईद मनाने के लिए पुंछ स्थित अपने घर लौट रहे थे. वह थल सेना की 44 वीं राष्ट्रीय राइफल में नियुक्त थे.
दोनों भाइयों ने कहा, ‘उनकी हत्या के बाद, हम थल सेना में शामिल होने के लिए दृढ़ हैं.’ शब्बीर ने कहा, ‘हम थल सेना में शामिल हुए हैं. हमारा लक्ष्य भाई का बदला लेना है. यह हमारे पिता का संकल्प और हमें दिया गया निर्देश है. हम इसे पूरा करेंगे.’
थल सेना के प्रवक्ता ने बताया कि इन दोनों को सात मार्च को पुंछ जिले में चलाए गए एक भर्ती अभियान में चयनित किया गया था. उन्हें पंजाब रेजीमेंट में प्रशिक्षण मिलेगा. प्रवक्ता ने बताया कि थल सेना ने सोमवार को राजौरी जिले में भर्ती परेड कराई.

Prev Post

देवली में नगरीय विकास मंत्री धारिवाल का पुतला फूंका

Next Post

देवली में मदरसा पैराटीचर्स का तीसरे दिन भी बहिष्कार जारी

Related Post

Latest News

Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

REET - 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित 
राजस्थान में रहेगा गहलोत का ही राज, सचिन.. 
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज
प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर