Ambedkar statue unveiled in Baroni, library to be opened at a cost of Rs 10 lakh
टोंक राजस्थान

बरोनी में अम्बेडकर की मूर्ति का अनावरण, 10 लाख रुपये की लागत से खुलेगा पुस्तकालय

टोंक (फ़िरोज़ उस्मानी)। भारत के संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती के अवसर पर आज टोंक के पंचायत बरौनी पंचायत में अंबेडकर गार्डन में बाबा साहब की मूर्ति का अनावरण कांग्रेस नेता सऊद सईदी ने किया। मूर्ति अनावरण के बाद बाबा साहब को नमन किया।

 

Ambedkar statue unveiled in Baroni, library to be opened at a cost of Rs 10 lakh

इस कार्यक्रम के सरपंच मनभर शंकर द्वारा अतिथियों को माला और साफा पहनाकर बाबा साहब की मूर्ति देकर स्वागत किया गया। इस मौके पर सऊद सईदी ने कहा कि हमे बाबा साहब के विचारों व नीतियों को अपने जीवन मे उतारना चाहिए।

कई घोषणाएं की सऊदी ने कहा कि बरौनी में बाबा साहब के नाम पर 10 लाख की लाइब्रेरी बनाने का प्रण लिया है, इस कार्य को बहुत जल्द पूरा किया जाएगा।

डॉ. बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जयंती पर ग्राम बरोनी में बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की मूर्ति का अनावरण किया गया। इसमें मुख्य अतिथि मदरसा बोर्ड के सदस्य सऊद सईदी थे। अध्यक्षता टोंक प्रधान सुनीता गुर्जर ने की।

विशिष्ट अतिथि मालपुरा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा, हंसराज फागणा प्रदेश उपाध्यक्ष सरपंच संघ राजस्थान एवं अध्यक्ष सरपंच संघ टोंक, इन्दू लोधी पुलिस उपाधीक्षक पीपलू रहे। सबसे पहले मूर्ति का अनावरण किया। इसके बाद वक्ताओं ने बाबा साहब के जीवन पर प्रकाश डाला और उनके आदर्श पर चलने की प्रेरणा ली। इस अवसर पर पंचायत समिति टोंक के मद से 10 लाख की लागत से बाबासाहेब अंबेडकर भवन बनाने की घोषणा की।

कार्यक्रम में अनोखी देवी बैरवा सदस्य जिला परिषद टोंक, सायर देवी जाट सदस्य पंचायत समिति टोंक, ग्राम पंचायत बरौनी की सरपंच मनभर देवी गुर्जर, अध्यक्ष शिवदयाल पंवार और महेंद्र बैरवा समेत ग्रामवासी मौजूद थे।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।