दम घुटने से चार श्रमिकों सहित पांच की मौत

अलवर। जिले के टपूकड़ा में जहरीली गैस से भरे टैंक में उतरे चार लोगों सहित फैक्ट्री मालिक की मौत हो गई। जहरीली गैस से अनजान मजदूर अपने साथियों को बचाने के लिए एक-एक कर टैंक में उतरते रहे और मौत के मुंह में समाते रहे। सबसे आखिर में उतरे फैक्ट्री मालिक व ठेकेदार को बेहोशी की हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां मालिक की भी मौत हो गई।
जानकारी के अनुसार औद्योगिक क्षेत्र खुशखेडा स्थित गत्ता बनाने वाले श्री कृष्ण इंटरप्राइजेज में कुछ मजदूर काम कर रहे थे। गत्ता बनाने की प्रक्रिया एक टैंक में होती है। इसमें बॉयलर लगा रहता है जो घूमता रहता है और इस प्रक्रिया से लुगदी बन जाती है। सुबह टैंक में लगे बॉयलर में खराबी आ गई। एक मजदूर मशीन ठीक करने उतरा तो वह बेहोश हो गया। उसकी चीख निकल गई। उसकी चीख सुनकर दूसरा मजदूर उसे बचाने आया। टैंक में उतरते ही वह भी बेहोश हो गया और पानी में चला गया। ऐसा करते हुए चार मजदूर टैंक में उतर गए और सभी बेहोश हो गए। पास में खड़े फैक्ट्री मालिक बिजेंद्र सिंह व ठेकेदार कमलेश भी उन्हें बचाने उतर गए। वे भी बेहोश हो गए। इससे वहां हड़कंप मच गया। मजदूरों ने हल्ला मचाया तथा पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने वहां पहुंचकर मजदूरों की सहायता से सभी को अस्पताल पहुंचाया जहां डाक्टरों ने चारों मजदूरों को मृत घोषित कर दिया। मरने वालों के नाम राजू, विकास, राममूर्ति व लखन था। वहीं बिजेंद्र सिंह व कमलेश को भर्ती कर लिया। जहां फैक्ट्री मालिक बिजेंद्र सिंह की भी मौत हो गई। घटना के बाद पुलिस उप अधीक्षक नेमीचन्द सहित आला अधिकारी भी घटनास्थल पहुंचे और वहां का मुआयना किया। मृतकों के परिजनों को सूचना भिजवा दी गई है। परिजनों के आने के बाद शवों का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। फैक्ट्री में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।