जहां के ऐतिहासिक किले से पत्थरों के लिए दीवारें तोड़ दी जाए, वहां से ओवरलोड वाहन निकलना क्या मायनें रखता है ? सरवाड़ होते हुए ओवरलोड वाहनों का निकलना बदस्तूर जारी!

एम.इमरान टांक/गुस्ताख़ी माफ़ – 9251325900 – सुप्रीम कोर्ट और सरकार की ओवरलोडिंग वाहनों के ख़िलाफ़ सख़्ती! फिर भी सांवर से ट्रेलर में कैपिसिटी से ज्यादा भरे मार्बल ब्लॉक केकड़ी और सरवाड़ होते किशनगढ़ जा रहे हैं। केकड़ी के परिवहन अधिकारी मामले को इग्नोर कर रहे हो लेकिन सरवाड़ में ऐक्टिव उपखंड अधिकारी सूरजभान सिंह की मौजूदगी और राजेंद्र सिंह कमांडो जैसे थानेदार की दहशत भी ओवरलोड वाहन चालकों को नसीहत नहीं दे पाई है। दोनों दबंग और नामवर अधिकारी है। ग़ौरतलब हैकि जिस सरवाड़ से पत्थरों के लिए ऐतिहासिक किले की दीवारें तोड़ दी जाए, फ़िर पत्थर निकाल रिनोवेशन कर रही कंस्ट्रक्शन फर्म अपनें कार्य क्षैत्र में लगा ले और सबकी चुप्पी रहे, वहां से ओवरलौड वाहन निकलना क्या मायनें रखता है ? ख़ैर आज दैनिक भास्कर में ओवरलोड वाहनों को लेकर खबर भी प्रकाशित हुई है।