अजमेर

रेलवे अंडरपास में भरे पानी में डूबे व्यक्ति की मौत, मुआवजे की मांग पर अड़े ग्रामीण

कई घंटों से पानी में तैर रहा शव, ग्रामीणों ने रेलवे को बताया मौत का जिम्मेदार

✍🏻नवीन वैष्णव

अजमेर। अजमेर जिले के ब्यावर सदर थाना क्षेत्र स्थित रतनपुरा सरदारा गांव का रहने वाला 45 वर्षीय किशन काठात रेलवे के अंडरपास में भरे पानी में डूब गया। इससे उसकी मौत हो गई। मृतक किशन का शव तैरता दिखने पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। सूचना मिलते ही डीएसपी शिव सिंह सोढ़ा, ब्यावर सदर थानाधिकारी सहदेव सिंह चौधरी मय जाप्ता मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने किशन की मौत का जिम्मेदार रेलवे को ठहराया।

ग्रामीणों ने कहा कि पूर्व में यहां रेलवे फाटक होती थी और पुलिया थी। रेलवे ने अपने स्वार्थ के चलते फाटक को हटा दिया वहीं अंडरपास के गडढ़े को भी खुला छोड़ दिया जिससे हादसों का अंदेशा बना रहता था। आज इस गड़ढे ने एक व्यक्ति की जान ले ली। फाटक बंद होने के कारण भी ग्रामीणों को असुविधा हो रही है। ग्रामीणों ने साफ चेतावनी दी कि जब तक रेलवे के अधिकारी आकर मुआवजे की घोषणा और रेलवे फाटक शुरू करने का आश्वासन नहीं देते तब तक शव को पानी से बाहर ही नहीं निकालने दिया जाएगा। पुलिस के अधिकारियों ने भी ग्रामीणों व परिजनों को समझाने का काफी प्रयास किया लेकिन ग्रामीण अपनी जिद पर अड़े बैठे रहे।

पेशे से ड्राईवर था मृतक

मृतक किशन काठात इसी गांव का रहने वाला था और जहां हादसा हुआ उससे चंद कदमों की दुरी पर ही उसका मकान था। वह पेशे से ड्राईवर था। परिवार में एक ही कमाने वाला व्यक्ति था। इससे परिवार पर भी आर्थिक संकट गहरा जाएगा। किशन किन परिस्थितियां में अंडरपास में डूबा, फिलहाल कारण स्पष्ट नहीं हो सके हैं।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *