राज्य सरकार लगातार कर रही संभागस्तीय अस्पताल की उपेक्षा

Ajmer News। विधायक अजमेर उत्तर वासुदेव देवनानी एवं विधायक दक्षिण अनिता भदेल ने जवाहर लाल नेहरू अस्पताल के कोविड आईसीयू में शार्ट सर्किट से ब्लास्ट हुए वेंटीलेटर के कारण एक मरीज की मौत को दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए अस्पताल की बदहाली के लिए चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा को जिम्मेदार बताया।

उन्होंने कहा कि संभागस्तरीय अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर लम्बे समय से समाचार पत्रों में खबरें प्रकाशित हो रही हैं तथा उन्होंने भी कई बार अस्पताल अधीक्षक व मेडिकल काॅलेज प्राचार्य से आवश्यक चिकित्सीय व्यवस्थाओं में सुधार के लिए बात भी की है और पत्र भी लिखे हैं लेकिन चिकित्सा मंत्री व राज्य सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया। देवनानी के कहा कि चिकित्सा मंत्री के गृह जिले के मुख्य अस्पताल के हालात ऐसे हैं तो प्रदेश के अन्य अस्पतालों के बारे में अंदाजा लगाया जा सकता है। राज्य सरकार द्वारा अजमेर स्थित संभागस्तरीय अस्पताल की लगातार उपेक्षा के कारण ही आज एसे हालात उत्पन्न हुए है। देवनानी ने कहा कि जेएलएन अस्पताल में कोरोना मरीजों की मौतें थमने का नाम नहीं ले रही है। गत दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री ललित भाटी, प्रभाष भटनागर सहित कई लोगों की अस्पताल में मौतें हुई हैं परन्तु अस्पताल प्रशासन अपनी कोई जिम्मेदारी मानने को तैयार नहीं है जबकि मरीजों व मृतकों के परिजन इसके लिए अस्पताल प्रशासन की लापरवाही बताते रहे है। उन्होंने चिकित्सा मंत्री व राज्य सरकार से मांग की है कि तत्काल जेएलएन अस्पताल की सुध ले और व्यवस्थाओं के सुधार पर ध्यान दे। जिला कलक्टर ने पिछले दिनों में कई बार अस्पताल का दौरा कर आक्सीजन व अन्य जरूरी प्रबंध किये जाने के निर्देश दिये परन्तु उन पर अभी तक भी अमल नहीं हुआ है। देवनानी ने कहा कि सरकार कोविड वार्ड में शार्ट सर्किट की घटना को गंभीरता से लेते हए इसकी जांच कराए साथ ही अस्पताल के अन्य आसीयू व सामान्य वार्डों की भी सघन जांच व आवश्यक मरम्मत कराए जिससे भविष्य में किसी वार्ड में इस प्रकार की घटना ना हो।