राजस्थान में मस्जिद में मौलाना बच्चों से करता था सेक्स, परेशान बच्चों ने कर दी हत्या

Dr. CHETAN THATHERA
6 Min Read

अजमेर। मंदिर मस्जिद पवित्र स्थान माना जाता है लेकिन इस इन पवित्र स्थान को ही अगर गंदा किया जाए तो फिर आप क्या कहेंगे। मस्जिद जो मुस्लिम समुदाय का पवित्र स्थल माना जाता है और उसे मस्जिद का पुजारी मौलाना होता है।

लेकिन जब मौलाना ही उसे मस्जिद में रहने वाले बच्चों के साथ प्राकृतिक यौन संबंध ( सेक्स) करने लग जाए और धमकियां देने लग जाए तो फिर सुरक्षित स्थान कहां रहा ऐसे ही घटना प्रदेश के अजमेर नगरी में घटित हुई जहां एक मस्जिद में रहने वाले बच्चों के साथ मौलाना जबरन सेक्स करता इससे परेशान होकर 6 बच्चों ने मिलकर मौलाना की हत्या कर दी थी 15 दिन पहले हुई इस हत्या का यह चौंकाने वाला खुलासा पुलिस ने किया है यह खुलासा होने पर मुस्लिम समुदाय के लोगों की पैरों तारे जमीन खिसक गई है ।

विदित है की गत 26 अप्रैल को अजमेर के रामगंज थाना क्षेत्र का दोराई कंचन नगर में स्थित मोहम्मदी मदीना मस्जिद के मौलाना मोहम्मद माहिर 30 की मध्य रात को हत्या कर दी गई थी ।

इस हत्याकांड को लेकर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज साइबर तकनीकी सहित लगातार जांच पड़ताल और अथक प्रयास करते हुए इसका राज पास कर दिया पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार विश्नोई ने कल देर शाम इस घटना का खुलासा करते हुए बताया कि इस मामले में मस्जिद में ही रहने वाले 6 नाम बालिकों को हिरासत में लिया गया है एसपी बिश्नोई इस पूरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि पूछताछ में नाबालिगों ने बताया कि मौलाना मोबाइल पर अश्लील फिल्में दिखा कर उनसे चार साल से कुकर्म ( सेक्स) करता आ रहा था।

साथ ही किसी से इस बात का जिक्र करने पर जान से मारने की धमकी देता था। मौलाना माहिर करीब 7 साल पहले उत्तर प्रदेश के रामपुर से यहां आया था। वो यहां रहकर बच्चों को पढ़ाता था। मौलाना का परिवार रामपुर में ही रहता है।

मस्जिद में मौलाना के साथ 15 बच्चे रहते थे। ईद के चलते 10 बच्चे अपने घर चले गए थे। ऐसे में यहां 5 बच्चे रह रहे थे। मौलाना 25 अप्रेल को ही अपने साथ रामपुर से एक नाबालिग को लेकर आया था।

गांव से साथ आए नाबालिग ने सभी बच्चों को बताया

पूछताछ में सामने आया कि उस रात मौलाना ने अपने साथ आए नाबालिग से कुकर्म किया था। इसके बाद उसे रुपयों का लालच देकर किसी से भी इस घटना का जिक्र न करने की बात कही। इसके बाद 26 अप्रेल की रात पीड़ित नाबालिग ने मस्जिद में साथ रह रहे 5 अन्य नाबालिगों को इस घटना के बारे में बताया। इस पर बाकी बच्चों ने भी बताया कि मौलाना हम सभी के साथ करीब 4 साल से ऐसा ही कुकर्म कर रहा है। मगर मौलाना की धमकियों और डर के मारे हम सब चुप हैं। इसके बाद सभी 6 बच्चों ने मिलकर मौलाना को मारने की योजना बनाई।

रायते में मिलाई नींद की दवा

पूछताछ में सामने आया कि 26 अप्रेल की रात करीब 8 बजे बच्चे मेडिकल की दुकान से नींद की गोलियां लेकर आए। उस रात मौलाना माहिर खाना खाने बाहर गया हुआ था। वहां से रात के 10 बजे वापस आया। इस दौरान सभी ने बूंदी के रायते मे नींद की गोली पीस कर मिला दी और रायता मौलाना को पिला दिया। कुछ समय बाद मौलाना माहिर मस्जिद में स्थित कमरे में जाकर सो गया। इसके बाद नाबालिगों ने तय‌ किया कि उस रात को कोई भी नहीं सोएगा।

 

एसपी ने बताया कि सभी नाबालिग रात करीब 2 बजे मस्जिद के पीछे गली में रखे कबाड़ में से एक डंडा लेकर आए। इसके बाद उन्होंने कमरे में सो रहे मौलाना माहिर के सिर पर इस डंडे से वार कर दिया। मौलाना चीखकर खड़ा होने की कोशिश करने लगा, मगर नाबालिगों ने उसे पटक कर रस्सी से उसके गले मे फंदा लगाकर कस दिया। कुछ समय बाद मौलाना शांत हो गया।

 

 

नाबालिगों की साजिश सुनकर पुलिस अधिकारियो के पैदो तले जमीन खिसक गई। उन्होंने बताया- जब पूरी तरह मौलाना की सांसें रुक गई तो हम सभी कमरे से बाहर आ गए। इसके बाद तय किया कि अगर कोई भी पूछे तो यह बताना है कि यहां पर तीन आदमी काले रंग के कपड़े पहनकर आए थे, जिनके मुंह बंधे हुए थे और हाथों में दस्ताने थे। उनमें से एक ने हम सब को बाहर खड़ा कर चुप रहने की धमकी दी। इसके बाद अन्य दो लोगों ने हाथ में लट्ठ लेकर कमरे में मौलाना को मार दिया। बाद में वे मस्जिद के पीछे की दीवार कूद कर भाग गए और डंडा वहीं छोड़ गए। नाबालिगों ने पूछताछ में बताया कि मौलाना की हत्या करने के बाद सभी मस्जिद के पास रहने वाले सरफराज को बुलाकर लाए। पुलिस ने बाद में जांच कर कार्रवाई करते हुए बच्चों के पास से मौलाना का मोबाइल और हत्या के लिए उपयोग में ली गई रस्सी जब्त कर ली थी।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम