अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पर 2 करोड़ घूस का आरोप, ट्रेप फेल,ACB ने वारंट से Adsp के 5 ठिकानों पर सर्च 

Divya mittal Additional Superintendent of Police accused of 2 crore bribe, trap failed, ACB searched 5 locations of Adsp with warrant

जयपुर/ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जयपुर टीम ने आज अजमेर में एसओजी मैं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल पर दो करोड़ रुपए की घूस मांगने और भनक लगने पर रिश्वत का ट्रैक फेल हो जाने पर आज कोर्ट से वारंट लेकर एडिशनल एसपी मित्तल के आवास और फार्म हाउस सहित पांच ठिकानों पर एक साथ सर्च अभियान शुरू किया है।

खबर लिखे जाने तक यह सर्च जारी थी उधर दूसरी ओर एडिशनल एसपी मित्तल ने रिश्वत के आरोप को नकारा है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बजरंग सिंह के अनुसार एसीबी मुख्यालय मैं गत दिनों एक मामला दर्ज हुआ इसमें शिकायतकर्ता ने स्वयं को निर्दोष बताते हुए ।

बताया कि उसका नाम एक एनडीपीएस के मामले में हटाने के एवज में एसओजी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल दलाल के जरिए उसे डरा धमका कर दो करोड़ रुपए मांग रही है।

शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में इस बात का खुलासा किया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मित्तल ने उससे कहा था कि तुम्हारे पास दलाल का फोन आएगा और उसके बाद दलाल का फोन उसके पास आता है और उसे उदयपुर स्थित एक फार्म हाउस पर बुलाया जाता है ।

जोकि फार्म हाउस और रिसोर्ट दिव्या मित्तल का बताया जाता है उसे वहां डरा धमका कर दो करो रुपए की रिश्वत मांगी जाती है

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अनुसार शिकायत का सत्यापन करवाया गया और सत्यापन के दौरान दलाल निर्धारित राशि लेने भी आया था लेकिन कार्यवाही भनक लग जाने से फेल हो गई ।

बताया जाता है कि इस रिश्वत के रूप में पहली किस्त 2500000 रुपए दलाल को दिए थे और यह राशि दलाल आज मेरे दिव्या मित्तल को देने वाला था लेकिन शक होने से राशि नहीं दे पाया और ट्रेस फेल हो गया।

लेकिन भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने कोर्ट से वारंट लेकर एसओजी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल अजमेर उदयपुर झुंझुनू और जयपुर के ठिकानों पर चर्चा शुरू की उदयपुर में मित्तल का एक रिसोर्ट में फार्म हाउस है तथा अजमेर में जयपुर रोड पर स्थित एआरसी सोसाइटी में डीडीए के फ्लैट है जहां दिव्या मित्तल की मौजूदगी में ही सर्च की कार्यवाही की गई।

उधर दूसरी ओर एसओजी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल ने भ्रष्टाचार के आरोपों को नकारते हुए उन्हें साजिश के तहत फंसाने की बात कही है विदित है कि दिव्या मित्तल ने 2021 में कार्रवाई करते हुए कुल 16 करोड रुपए की नशीली दवाइयां पकड़ी थी।

इनमें से जयपुर में 5.50 करोड़ की और अजमेर में 11 करोड़ की नशीली दवाइयां पकड़ी थी । फिलहाल भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की सर्च अभियान जारी है और अभियान पूर्ण होने के बाद ही वास्तविकता और सही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी