भरतपुर राजस्थान

भरतपुर में 73 वे जिला स्तरीय वन महोत्सव का हुआ आयोजन 

भरतपुर / राजेंद्र शर्मा जती । सीकरी उपखण्ड क्षेत्र के आदिबद्री क्षेत्र में ककराला पहाड़ पर 73 वे जिला स्तरीय वन महोत्सव के तहत जिला प्रशासन ने वृक्षारोपण किया। हाल में सन्तो के द्वारा पसोपा में आदिबद्री तथा कनकांचल के धार्मिक पर्वतों को खनन मुक्त कराने को लेकर 551 दिन धरना दिया जिसमें एक संत बाबा विजय दास ने आत्मदाह कर लिया था जिसके बाद सरकार ने क्षेत्र को वन विभाग को घोषित कर दिया था तथा खनन लीज धारकों को नोटिस देकर समय से पूर्व लीजो को निरस्त कर दिया था ।

जिसके बाद आज संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा, पुलिस महानिरीक्षक गौरव श्रीवास्तव, जिला कलेक्टर आलोक रंजन,पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने महंत भूरा बाबा,महंत शिवराम दास के साथ वन विभाग के द्वारा 73 वे जिला स्तरीय वन महोत्सव के तहत वृक्षारोपण कार्यक्रम में शिरकत की। जिसमे पंचवटी के तहत पाँच अलग अलग पौधों का अधिकारियों ने पौधरोपण किया तथा पूरे क्षेत्र में अभी 5 हजार पौधे और लगाए जायँगे तथा उप वन संरक्षक सुमित बंसल ने सरकार के द्वारा वन क्षेत्र की घोषणा को लेकर होने वाले कार्यो के बारे में विस्तार से बताया तथा सीसीएफओ मीणा ने वन विभाग की योजनाओं तथा वन महोत्सव को लेकर विस्तार से बताया।

बाबा भूरा महंत पसोपा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा जिला प्रशासन का वन क्षेत्र घोषित करने पर आभार जताया तथा बताया पूर्व में भी कामा के क्षेत्र को खनन मुक्त इसी सरकार ने ही किया तथा सरकार से अब कोई शिकायत नही है तथा उन्होंने पुलिस अधीक्षक से आंदोलन में लगे मुकदमो में कार्यवाही नही करने का भी आग्रह किया।

किसान नेता मोहन गुर्जर ने बताया कि आदिबद्री मंदिर को मेव समाज के पहाट ने सहयोग किया जिसको लेकर पहाट क्षेत्र के काफी जंगलों को भी वन क्षेत्र घोषित किया है संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा ने कहा कि वृक्षारोपण में सभी लोगो को सहयोग करना चाहिये तथा क्षेत्र में वन क्षेत्र का विस्तार करना चाहिये।

जिला कलेक्टर आलोक रंजन ने बताया कि सरकार के द्वारा वन संरक्षित करने के लिये राज्य सरकार ने शीघ्र ही कार्यवाही करते हुए मांगो को मान लिया तथा क्षेत्र में डीएमएफटी की राशि से पौधारोपण एवं अन्य विकास कार्य कराए जाएंगे तथा पर्यटन विभाग के द्वारा आदिबद्री मंदिर में तथा पसोपा में कराए जाने वाले कार्यो की जानकारी दी। कार्यक्रम में स्थानीय प्रशासन तथा वन विभाग के कर्मचारी तथा अनेक जनप्रतिनिधियों सहित स्थानीय लोग उपस्थित रहे।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.