न्यूज़

चोरी का नहीं हुआ खुलासा तीसरे दिन भी अनशन रहा जारी,बाजार बंद का रहा व्यापक असर

अनिश्चित कालीन आमरण अनशन आखिर तीसरे दिन बुधवार को भी जारी रहा

 

 

भरतपुर (राजेन्द्र जती )। उपखण्ड डीग के कस्बा जनूथर में गत 22जुलाई की रात्रि को दो मकान मालिकों के घरों में हुई चोरी की वारदात जिसमें चोरों ने लाखों की नकदी के साथ जेवरात पार किये।वारदात के खुलासे को लेकर पीडित परिजनों का कस्बे के कुम्हेर सडक मार्ग पर संचालित पुलिस चौकी के समक्ष सोमवार से शुरू अनिश्चित कालीन आमरण अनशन आखिर तीसरे दिन बुधवार को भी जारी रहा।

 

वारदात के खुलासे को लेकर कन्हैया सेठ ब्रजमोहन खण्डेलवाल एवं भ्रष्टाचारी विरोधी मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष चन्द्रभान गुप्ता के बैनर तले तीन सदस्यों ने अनशन की शुरुआत की है।इस दौरान चिकित्सक रतीराम चौधरी ने सुबह 10बजे के लगभग स्वास्थ्य की जाँच की जिसमें फिलहाल स्वास्थ्य को सामान्य करार दिया है।

 

चिकित्सक द्वारा पानी पिलाने को दिया जिसे अनशनकर्त्ताओं ने अस्वीकार कर दिया।भले ही चिकित्सक द्वारा स्वास्थ्य को सामान्य करार दिया मगर चेहरे के हावभाव एवं बोलचाल से स्वास्थ्य में गिरावट के स्पष्ट संकेत दिखने को मिले जो अगले दिनों तक यदि मामले का खुलासा नहीं हुआ तो अनशन जारी रहने के चलते तबीयत बिगड सकती है जो प्रशासन के लिए गले की फाँस बन सकता है।

 

चोरी के शीघ्र खुलासे को लेकर 8सदस्यीय दल ने सतीश बंसल के नेतृत्व में एसपी केसर सिंह शेखावत से भी मुलाकात की जहाँ उन्हें एक बार पुन:आश्वान मिलने के साथ गठित एसओजी टीम द्वारा की जा रही कार्यवाही जो शीघ्र चोरी का खुलासा करेगी की बात दोहराई।

उधर व्यापारिक मण्डल के आह्वान पर तीसरे दिन भी बाजार बंद रहा।व्यापारियों ने अलसुबह से देर रात तक अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे जिसका व्यापक असर देखने को मिला।

 

कस्बे में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा स्थानीय लोगों के साथ दूरदराज से आये ग्रामींण रोजमर्रा की वस्तुओं के से महरूम रहे।कस्बे में छाई वीरानी वारदात के शीघ्र पर्दाफाश की राह ताकती नजर आई जिसके चलते पीडितों को न्याय मिलने के साथ आमजनजीवन को सामान्य की जा सके।

 

किसानों को खाद उपलब्ध नहीं होने से खेती पर विपरीत असर दिखने को मिला जो डीग नगर नदबई के बाजारों की ओर रुख करने लगे हैं।स्टेशनरी की दुकानें बंद रहने से पढने वाले छात्र-छात्राओं को भी खासी परेशानी का सामना करना पड रहा है।

वहीं देर शाम 6.30 बजे जिले एवं उपखण्ड डीग से आये अनिल लोहिया महावीर जैन भगवानदास गोयल सहित 7सदस्यीय व्यापारिक प्रतिनिधिमण्डल ने भी पीडितों से मुलाकात कर अनशन का समर्थन करते हुए

 

वारदात का शीघ्र खुलासा न होने पर जिले के साथ उपखण्ड डीग के बाजार बंद करने की चेतावनी दी।इस दौरान मण्डल सदस्यों ने पुलिस प्रणाली के प्रति अभी तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं होने को लेकर रोष व्यक्त किया।

भले ही पुलिस चोरों का अभी तक सुराग नहीं लगा सकी मगर आमजन का आक्रोश अवश्य पुलिस कार्यवाही से ऊपर दिखाई दे रहा है,जो अनशन स्थल पर मौजूद भारी संख्याबल के साथ बयाँ होता है।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *