आयोग ने युवती को करंट देने और उसे पीटने के मामले में प्रसंज्ञान लिया

जयपुर। राज्य महिला आयोग ने युवती को करंट देने और उसे पीटने के मामले में प्रसंज्ञान लेते हुए मंगलवार को  परिजनों को आयोग में तलब किया। अध्यक्ष सुमन शर्मा ने बताया कि आयोग के समक्ष युवती ने परिजनों पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया और उनके साथ घर नहीं जाने की बात कही तथा अपनी पसन्द के युवक से शादी कर उसी के साथ रहने की इच्छा जाहिर की। युवती के पास आधार कार्ड के अनुसार वह बालिग है इसलिए उसकी इच्छा सर्वोपरि है। शर्मा ने कहा कि आयोग अभिभावक की तरह युवती की इच्छा व सुरक्षा के लिए वचनबद्ध है। इसलिए 16 मई को उसकी पसन्द के युवक को आयोग में बुलवाया गया है। यदि वह युवती के साथ रिश्तों के प्रति गम्भीर है तो उनके विवाह में आने वाली अड़चनों को दूर किया जाएगा। युवती के साथ बेरहमी से मारपीट करने, करंट लगाने और उसके बाल काटने के घ्रणित कृत्यों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।