Satta king arrested by Alwar police from Delhi, betting accounts worth crores recovered
न्यूज़

सट्टा किंग को अलवर पुलिस ने दिल्ली से दबोचा, करोड़ों का सट्टे के हिसाब-किताब बरामद

अलवर/ राजस्थान पुलिस ने रविवार को सटोरियों के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. अलवर पुलिस ने दिल्ली पुलिस की मदद से दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 19 के फ्लैट नंबर 76 पर छापामार कार्रवाई कर सट्टा किंग चक्षु गर्ग व उसके चार साथियों को गिरफ्तार किया है. ये अब तक 10 करोड़ से ज्यादा का सट्टा लगवा चुके हैं और 10 साल से सट्टा कारोबार में सक्रिय हैं. पुलिस को चक्षु गर्ग की लंबे समय से तलाश थी. इसके पास से करोड़ों का हिसाब-किताब मिला है.

अलवर पुलिस को एक शिकायत मिली. इसमें शिकायतकर्ता ने कहा कि एक व्यक्ति ने आईपीएल मैच में सट्टा लगाने के नाम पर उससे 10 हजार रुपये लिए व उसको एक मोबाइल नंबर दिया. शिकायतकर्ता ने जब उस मोबाइल पर फोन किया, तो उसका फोन नहीं उठा. इस पर उसने मामले की सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने उन मोबाइल नंबरों की जांच की तो नंबरों की लोकेशन दिल्ली द्वारका आ रही थी. इस पर दिल्ली पुलिस की मदद से अलवर पुलिस ने दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 19 स्थित फ्लैट नंबर 76 में रेड मारी.

वहां फ्लैट पर सट्टा किंग चाक्षु गर्ग (35) निवासी 60 फुट रोड अलवर मौजूद था. पुलिस ने तुरंत उसको गिरफ्तार किया. उसकी निशानदेही पर उसके साथी देवेंद्र भारद्वाज, रोहित यादव, विक्रांत खंडेलवाल और हितेश अग्रवाल को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया. रोहित यादव दिल्ली का रहने वाला है, जबकि देवेंद्र भारद्वार, हितेश अग्रवाल और विक्रांत खंडेलवाल अलवर के रहने वाले हैं. पुलिस को इनके पास से तीन लाख 10 हजार रुपये, 3 महंगी गाड़ी, 30 मोबाइल फोन, 4 एलईडी, 3 लैपटॉप 12 हिसाब किताब के रजिस्टर मिले हैं.

डिप्टी एसपी ने बताया कि अभी तक यह लोग 10 करोड़ रुपये से ज्यादा का सट्टा लोगों का लगवा चुके हैं. चाक्षु गर्ग 10 साल से सट्टे के कारोबार में सक्रिय है. यह लोग मुंबई इंडियंस व दिल्ली की टीम के बीच चल रहे मैच पर सट्टा लगवा रहे थे. पुलिस ने कहा कि इनके पास से मिले हिसाब-किताब की जांच चल रही है. साथ ही इनके अन्य साथियों को भी गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं. पुलिस इस कार्रवाई को बड़ी सफलता मान रही है. उन्होंने कहा कि अलवर के सट्टेबाज बाहर दूसरे शहरों में बैठकर सट्टे का कारोबार कर रहे हैं. लंबे समय से इसकी शिकायतें मिल रही थी. पुलिस को चाक्षु की तलाश थी. इसी बीच शिकायत मिलने पर पुलिस ने इस पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया.अलवर पुलिस ने कुछ दिन पहले भी सट्टा लगवाने वाले एक बड़े गैंग को पकड़ा था. इस कार्रवाई के बाद सट्टा कारोबार पर लगाम लग सकेगी. अलवर के लोग बड़ी संख्या में सट्टा लगा रहे थे. पुलिस ने कहा कि सभी गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ चल रही है. अब तक की पूछताछ में कई अहम सुराग मिले हैं. सट्टे का काम करने वाले लोग बड़े शहरों में रहकर लोगों का पैसा लगाते हैं.

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.