राज्य की गहलोत सरकार ने इंदिरा गांधी रसौई योजना के माध्यम से गरीब को गणेश मानकर सेवा का बीडा उठाया – अशोक बैरवा

Newai news । कांग्रेस के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री अशोक बैरवा ने कहा कि राज्य की गहलोत सरकार गरीब को गणेश मानकर सेवा का बीडा उठा कर गरीबों के पेट की चिंता की हैं, जिसके तहत आज से सम्पूर्ण राज्य में इंदिरा रसौई योजना के माध्यम से मात्र 8 रूपये में गुणवत्ता युक्त …

राज्य की गहलोत सरकार ने इंदिरा गांधी रसौई योजना के माध्यम से गरीब को गणेश मानकर सेवा का बीडा उठाया – अशोक बैरवा Read More »

August 20, 2020 9:07 pm


Newai news । कांग्रेस के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री अशोक बैरवा ने कहा कि राज्य की गहलोत सरकार गरीब को गणेश मानकर सेवा का बीडा उठा कर गरीबों के पेट की चिंता की हैं, जिसके तहत आज से सम्पूर्ण राज्य में इंदिरा रसौई योजना के माध्यम से मात्र 8 रूपये में गुणवत्ता युक्त एवं पोष्टिक भरपेट भोजन मिल सके।


पूर्व मंत्री एवं पूर्व कांग्रेस उपाध्यक्ष अशोक बैरवा आज जयपुर से सवाई माधोपुर जाते समय निवाई बाईपास पर इस संवाददाता से अनौपचारिक बातचीत कर रहे थे । बैरवा ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा रही हैं कि उनके शासन में कोई भी व्यक्ति भूखा नही सोये । उन्होने वैश्विक कौरोना काल के दौरान भी समाज के गरीब परिवारों को घर घर गैूंहू का वितरण करवाया । भामाशाहो का मदद के लिए आव्हान किया उन्होने भी अपने सामर्थ्यानुसार समाज के गरीब परिवारों की हर संभव मदद की।


पूर्व मंत्री अशोक बैरवा ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा रही हैं कि गरीब को गणेश मानकर सेवा की जाए। जिससे उनके मन से निकली दुआ राज्य के शासन के लिए दवा का काम करेगी । जिससे राज्य में खुशहाली एवं सम्पन्नता आये एवं सभी प्रदेशवासी स्वस्थ्य एवं निरोगी रहे । बैरवा ने कहा कि इंदिरा रसौई योजना ऐसे परिवार जो खानाबदोश,गरीब, शहर में मजदूरी करने वाले लोगों के लिए जीवनदायनी साबित होगी।


बैरवा ने बताया कि कहा भी गया हैं कि भूखे पेट भजन ना होय गोपाला । अर्थात भूखे पेट रहेगें तो हम ठीक से ना तो ठीक से शारीरिक श्रम कर सकते ना मानसिक श्रम कर सकते । इसलिए गहलोत सरकार की बहुआयामी मंशा के चलते इंदिरा रसोइ योजना के माध्यम से अब 8 रूपयें में भरपेट भोजन मिल सकेगा । अब आमजन भी भोजन भी करे एवं भगवान के भजन भी करे । राज्य की गहलोत सरकार सबकी चिंता करती है। इसके लिए राज्य की सभी नगर पालिकाओं एवं नगर परिषद क्षेत्रों में चिन्हित जगहों पर गर्म रसोई प्राप्त कर पेट की क्षुधा शांत कर सकेगें।


उन्होने कहा कि गहलोत सरकार ने अपने पूर्व के शासनकाल के दौरान जबरदस्त अकाल के दौरान भी जगह जगह अकाल राहत कार्य काम के बदले अनाज योजना चलाकर घर घर में अनाज का भण्डार भर दिया । कोराना संकट के दौरान भी राज्य में ना रोजगार की कमी आने दी ना किसी को भूखे से मरने दिया। उन्होने कहा कि कोरोना के चलते सरकार के राजस्व मे कमी आई हैं लेकिन राज्य के आमजन के लिए बनाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं के संचालन में गहलोत सरकार कभी रोडा नही बनने देगी ।


इस दौरान उनके साथ बलराम कृष्ण शर्मा, नगर पालिका निवाई प्रतिपक्ष नेता राजकुमार करनाणी,टोंक कांग्रेस कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष शिवजीराम मीना एवं सेवादल के प्रेदश नेता शिवपाल खण्डवा,सुरेश पारीक शिवाड आदि साथ थे ।

Prev Post

कैदी व सर्राफा व्यापारी सहित 26 और पाॅजिटिव

Next Post

भाजपा सांसद पति पर छेडछाड का आरोप

Related Post