पानी को नहीं रोकने पर गांव हो जाते जलमग्न

Todaraisingh News। उपखण्ड के गांव रिण्डलिया रामपुरा में लगातार बरसात होने से विद्यालय के समीप स्थित तालाब में रिसाव होने लगा। ग्रामीणों की मदद से पानी के रिसाव को जेसीबी से रोकने के प्रयास किए जा रहे है, देर शाम तक राहत कार्य किया जा रहा था। सैकडों बीघा कृिष भूमि में खडी फसलें पानी में डूब गई।

  माैके पर सरपंच सीताराम बैरवा, ग्राम विकास अधिकारी पारसी चौधरी तथा कनिष्ट सहायक बनवारीलाल जाट, हल्का पटवारी मदनलाल पहंुचंे तथा पंचायत स्तर पर कट्टे भरकर लगाए गए। मौके पर विधायक कन्हैयालाल चौधरी, उपखण्ड अधिकारी श्याम सुंदर चेतीवाल, तहसीलदार मनमोहन गुप्ता पहुंचकर राहतकार्य का जायजा िलया। मौके पर ही पटवारी व ग्राम विकास अधिकारी काे आवश्यक निर्देश दिए। लगातार बरसात होने से तालाब मंे बडी मात्रा में पानी की आवक अभी लगातार बनी हुई है।

सुबह से ही ग्रामीण तालाब में लगे गुळा को बंद करने में जुट गए, लेकिन काफी प्रयास के बाद भी सफलता नहीं मिलने पर पंचायत प्रशासन को अवगत कराया गया। मौके पर कट्‌टे लगाने लगे। प्रशासन की आेर से जेसीबी की मदद से प्रयास िकए गए, लेकिन शाम तक भी पानी नहीं रूकने की स्थिति में केकड़ी से एलएण्डटी मशीन मंगवाई गई तब तक पानी काे रोकने का प्रयास जारी है।

तालाब से निकले पानी से सैकड़ों बीघा में खडी फसले नष्ट

तालाब से पानी की निकासी के बाद पानी खेतो में भर गया। इन खेतो में ज्चार, बाजारा, मूंग, मक्का आदि फसले उगी है, पानी भरने के कारण गलने से िकसान िचंितत हो रहे है। िकसान सूरज चौपडा, रामलाल आदि िकसानों ने फसले के नुकसान की मांग की है।

पानी को नहीं रोकने पर गांव हो जाते जलमग्न

पानी की निकासी को नहीं रोका जाता तो गांव रिण्डलिया,रामपुरा सहित आस पास के गांवो में पानी भर जाता है। तालाब के गुळा लगने की जानकारी मिलते ही आस पास के गांवों से सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। सभी अपने अपने स्तर पर प्रयास में जुट गए।