पटवारी द्वारा बोगस तरीके से 75 वर्षीय विधवा को पेंशन का झांसा देकर जमीन की रजिस्ट्री करवाई

Newai news । ग्राम चिकाना की एक 75 वर्ष की विधवा वृद्धा श्रीमती सोसर देवी को वृद्धा पेंशन का लाभ दिलाने के बहाने तहसील में लाकर उसकी जमींन की जमींन की कूट रचित दस्तावेजों के जरिये चिकाना गांव के पटवारी बुद्धनारायण माली द्वारा रजिस्ट्री करवाने का मामला प्रकाश में आया हैं। जब विधवा वृद्धा को पता चला और विरोध किया तो उसे बेरहमी से मारा पीट कर अधमरा कर दिया।


इस आश्य को लेकर निवाई तहसील के ग्राम चिंकाना की 75 साल की विधवा श्रीमती सोसर देवी ने सांेमवार को जिला कलेक्टर को शिकायत करते हुए बताया कि उसके पति की पूर्व में ही मृत्यु हो चुकी हैं तथा उसके कोई औलाद भी नही हैं। वृद्धा के अनपढ़ होने का लाभ उठाते हुए षडयं़त्र रचकर योजनाबद्ध ढंग से बुद्धनारायण, रत्तीराम माली निवासी चिकाना हाल पटवारी क्षेत्र निवाई तथा गंगाराम पुत्र पांचू माली निवासी चिकाना तहसील निवाई में मिलीभगत कर प्रार्थिया की काश्त की भूमि को हडपने एवं अपने नाम कराने के लिए विधवा वृद्धा श्रीमती सोसर देवी की वृद्धावस्था पेंशन कराने के नाम पर छल कपट पूर्वक धोखाधडी करते हुए तहसील निवाई में ले आये ।


जहां पटवारी बुद्धराम माली एवं रत्तीराम माली ने विधवा श्रीमती सोसर देवी से वृद्धापेंशन के कागज बताकर अंगूठा निशानी लगवा कर फर्जी दस्तावेज तैयार कर उसकी भूमि की हकत्याग करवा कर रजिस्ट्री अपने नाम से रजिस्ट्री करवा ली। मजेदार बात तो यह हैं कि उप पंजीयन अधिकारी निवाई ने भी प्रार्थिया को नही इस तरह की कार्यवाही के लिए कोई पूछताछ नही की जाना संदेह प्रकट करता हैं।


वृद्धा ने जिला कलेक्टर को लिखे पत्र में बताया कि उप पंजीयन अधिकारी की इस प्रकार की कार्यवाही के लिए नही बताना भ्रष्टाचार में लिप्त होना बताया तथा बताया कि उप पंजीयन अधिकारी भी भ्रष्टाचार में लिप्त होकर प्रार्थिया के साथ धोखाधडी कर अपना फायदा उठाकर भारी रिश्वत लेकर प्रार्थिया की भूमि को उक्त लोगांे के नाम पंजीयन कर क्षमि पहंुचाई।


श्रीमती सोसर देवी ने जिला कलेक्टर को बताया कि जब इस बात का पता उसे चला तो विधवा वृद्धा सोसर देवी ने इस बात का उलाहना दिया तथा कहा कि कहा कि वापस रजिस्ट्री करवा दे। इसी बात पर उक्त तीनों लोगों ने 75 वर्षीय वृद्धा श्रीमती सोसर देवी को घर के भीतर घुसकर लात घूंसों से मारपीट की तथा जान से मारने का कहा तथा उसके घर से निकाल दिया। इसके साथ ही उसकी शेष बची जायदाद पर कब्जा करने पर आमदा है।


वृद्धा ने जिला कलेक्टर को बताया कि बुद्धनारायण पुत्र रत्तीराम माली तहसील निवाई में पद स्थापित हैं तथा तहसीलदार उप पंजीयक अधिकारी से मिला हुआ हैं जिसने पद का दुरूपयोग कर छल कपट पूर्वक धोखाधडी कर पेंशन के कागजों पर हस्ताक्षर अंगूठा कराने के नाम पर हक त्याग रजिस्ट्री पर अगूंठा लगाकर हक त्याग रजिस्ट्री पर अंगूठा लगवाकर धोखाधडी की हैं।


व्ृद्धा श्रीमती सोसर देवी माली की पीडा सुन जिला कलेक्टर व्यथित होकर तत्काल वृद्धा के प्रार्थना पत्र पर सम्बधित थाना को उक्त आरोपियों के विरूद्ध नियमानुसार धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।