दुकानदार बिना मास्क पहने ग्राहक को सामान नहीं बेचें ,नही तो होगा जुर्माना – गौरव अग्रवाल

प्रशासन की गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले लोगो पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए प्रशासन की ओर से एक व्हाट्सअप नम्बर जारी किया जा रहा है, जिसके नम्बर 8290848432

Tonk news । जिला कलेक्टर गौरव अग्रवाल की अध्यक्षता में कोरोना रोकथाम एवं बचाव को लेकर जिला कलेक्ट्रेट सभागार मे बैठक आयोजित हुई। इस दौरान नगर परिषद सभापति अली अहमद,सीईओ नवनीत कुमार, एडीएम सुखराम खोखर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा सहित टोंक शहर के व्यापारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।


जिला कलेक्टर ने कहा कि जिस गति से जिले में कोरोना संक्रमण बढ रहा है, वह हम सभी के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने व्यापारियों से अपील करते हुए कहा कि वह बिना मास्क पहने ग्राहक को सामान नहीं बेंचे। खुद भी मास्क लगाए और प्रतिष्ठान पर आने वाले ग्राहकों को भी प्रेरित करें। दुकान पर आने वाले ग्राहकों के मध्य सोशल डिस्टेंसिंग रखे। पंाच से अधिक ग्राहकों को एकत्रित नहीं होने दें।


जिला कलेक्टर ने कहा कि आगामी दिनों में कोरोना रोकथाम एवं बचाव के लिए राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन की गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले लोगो पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए प्रशासन की ओर से एक व्हाट्सअप नम्बर जारी किया जा रहा है। जिसके नम्बर 8290848432 है। कोई भी जिम्मेदार नागरिक इस नम्बर पर कोरोना रोकथाम की गाईडलाईन का उल्लंधन पाए जाने पर प्रशासन को सूचित कर सकता है। उन्होंने शहरों के जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे अपने-अपने वार्डो में लोगो से मास्क लगाने,शारीरिक दूरी बनाएं रखने एवं अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलने की समझाइश करें। इस महामारी से हम सामूहिक भागीदारी निभाकर ही मुकाबला कर सकते है।


जिला कलेक्टर ने कहा कि अगर हम समय रहते नहीं चेते तो आने वाला समय हम सभी के लिए कष्ट कारक होगा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन कि ओर से कोरोना बचाव कि मानक संचालक प्रक्रिया का उल्लंघन की मॉनिटरिंग करने के लिए निरीक्षण टीमेें गठित की जा रही है। अतिरिक्त जिला कलेक्टर सुखराम खोखर ने कहा कि इस महामारी में हम सभी की जिम्मेदारी है कि मानव जाति की रक्षा के लिए राज्य सरकार एवं मेडिकल विभाग की गाइडलाइन का पालन करें।

नगर परिषद आयुक्त सचिन यादव ने कहा कि नगर परिषद के कार्मिक जब शहर में कोरोना बचाव के लिए बनाई गई गाइडलाइन का पालन कराने के लिए जाते है तो उन्हें बदसलूकी का सामना करना पडता है। उन्होंने कहा कि चालान काटना हमारा उद्देश्य नहीं है इसलिए सभी व्यापारी कोरोना बचाव की रोकथाम में जिला प्रशासन का सहयोग करें।