डॉ. दिशांत बजाज को डॉक्टर ऑफ लॉ की उपाधि

Tonk News । ग्लोबल पीस यूनिवर्सिटी द्वारा डॉ. दिशांत बजाज (एडवोकेट) को विधि के क्षेत्र में डॉक्टरेट की उच्चतर मानद उपाधि डॉक्टर ऑफ लॉ (एल.एल.डी.) से सम्मानित किया गया। डॉ. दिशांत बजाज को यह सम्मान उनके द्वारा विधि के क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्यों, जिले में विधि के क्षेत्र में सर्वाधिक शैक्षणिक योग्यता प्राप्त करने, विधि शिक्षा को बढ़ावा देने, विधिक जागरूकता लाने, विधिक चेतना जागृत करने, आदि सृजनात्मक कार्यों के चलते प्रदान की गई।


डॉ. बजाज ने पूर्व मे विधि विषय में पीएचडी की है। डॉ. बजाज को विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। डॉ. बजाज का नाम विभिन्न बुक ऑफ रिकॉड्र्स में दर्ज है। डॉ. बजाज विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के लिए निशुल्क विधिक सलाहकार के रूप में कार्य कर विधिक सहायता आमजन को उपलब्ध करा कर विधि के क्षेत्र में समाज सेवा संबंधी कार्य निरंतर कर रहे हैं। उनका उद्देश्य विधि के क्षेत्र में कार्य करने का यह है कि कोई भी व्यक्ति विधि की अनभिज्ञता मात्र से न्याय से वंचित ना रहे।

डॉ. बजाज ने देश के विभिन्न विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठीओं में भाग लिया एवं शोध पत्रों का वाचन भी किया है्र डॉ. बजाज द्वारा विधि से संबंधित विभिन्न पहलुओं जिसमें मृत्यु भोज एक कुप्रथा, आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं कोविड-19, भारतीय दंड संहिता एवं सोशल मीडिया, भारत का संविधान और विधिक सहायता संबंधी उपबंध, भारतीय विधि और वन्य जीव संरक्षण, लोक अदालत-विवादों का वैकल्पिक समाधान, भारतीय संविधान एवं शराबबंदी, मृत्यु दंड एवं प्रासंगिकता आदि विधिक एवं सामाजिक मुद्दों पर लेखन कार्य भी किया है एवं इनके लेख दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित होते रहते हैं।

डॉ बजाज का मानना है कि समाचार पत्र एक बहुत ही सुलभ माध्यम है जिसके द्वारा आप जनसाधारण को विधि से संबंधित जानकारी प्रदान कर समाज में विधि के संबंध में जागरूकता ला सकते है, विधि क्षेत्र में किए गए इन सभी उत्कृष्ट कार्यों के चलते यूनिवर्सिटी द्वारा डॉ. दिशांत बजाज को विधि के क्षेत्र में डॉक्टरेट की उच्चतर मानद उपाधि (एल.एल.डी.) डॉक्टर ऑफ लॉ से सम्मानित किया गया।