सचिन पायलट ने कदम पीछे हटाया तो 10 करोड गुर्जरो का अपमान होगा- सुखबीरसिंह जौनापुरिया

सुखबीरसिंह जौनापुरिया टोंक मैं पत्रकारों से बातचीत करते हुए

Tonk News । टोंक – सवाई माधोपुर लोकसभा सीट से भाजपा सांसद और गुर्जर नेता सुखबीरसिंह जौनापुरिया ने राजस्थान मे सियासी महासंग्राम पर कहा की यह सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच कांग्रेस की घर की लडाई है वह खुद निपटे और सचिन पायलट ने जो कदम उठा कर बढा लिया है अगर वह वापस पीछे हटते है तो देश के 10 करोड गुर्जरों का अपमान होगा ।

गुर्जर नेता और सासंद सुखबीरसिंह जौनापुरिया आज एक दिवसीय प्रवास पर टोंक  मे पत्रकार वार्ता  मे यह बात कही । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बार-बार भाजपा पर राजस्थान की कांग्रेस सरकार गिराने का आलोप लगा रहे है यह बिल्कुल निराधार है न भाजपा की और न ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भावना है की किसी भी सरकार को गिराया जाए जो सरकार चुनकर आई है वह अपना कार्यकाल पूरा करे और भाजपा के पास राजस्थान मे बहुमत नही है तो हम सरकार नही बनाऐंगे । राजस्थान मे अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच चल रही खींचातान व लडाई कांग्रेस की आपसी घर की लडाई है वह खुद निपटे भाजपा के सिर पर मढे ।

सासंद सुखबीरसिंह जौनापुरिया ने कहा की सचिन पायलट ने जो कदम उठाया है उससे उनको अब पीछे नही हटना चाहिए अगर वह वापस कांग्रेस मे लौटते है तो उनको वह सम्मान नही मिलेगा , कांग्रेस ने सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया पोस्टर हटा दिए तथा सचिन के लिए बहुत अनर्गल सार्वजनिक तौर से बोला है ऐसे मे सचिन पायलट को अब अपने बढे हुए कदम पीछे नही हटाने चाहिए अगर वह पीछे होते है और कांग्रेस मे लौटते है तो यह देश के 10 करोड गुर्जरो का अपमान होगा ।

https://youtu.be/q1kJmjP8w4s

उन्होंने कहा की सचिन यह कदम जब प्रदेश मे कांग्रेस सत्ता मे आई तब यह कदम उठाते तो मुख्यमंत्री आज वह होते सासंद सुखबीरसिंह जौनपुरिया ने कहा की सचिन पायलट को अब बाहर आकर बोलना चाहिए यही उनके राजनीतिक भविष्य के लिए अच्छा होगा । एक सवाल के जबाव मे जौनपुरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजनीतिक के चतुर खिलाडी हैऔर जो उनकी राह मे आया उसे वह निगल लेते है ।

 

प्रदेश के वर्तमान हालात पर कहा की प्रदेशवासी कोरोना महामारी से खौफज़दा है और सरकार के मंत्री व विधायक होटलो मे मस्त हो रही है ।