पुलिस ने लूट की घटना के मामले में फरार शेष आरोपी को किया गिरफ्तार

पुलिस ने पूर्व में पाँच आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा था,  - पुलिस ने पूर्व में गिरफ्तार किए गए पाँचों आरोपियों से लूट की 92000 रूपये की राशि व सरिये सहित अन्य हथियार तथा पीड़ित के दस्तावेज बरामद तथा लूट की घटना में उपयोग में ली गई कार को भी बरामद किया जा चुका, - 29 अप्रैल 2020 को चौरू के नजदीक चौथ का बरवाड़ा रोड़ पर बाईक सवार किसान व उसके साथी के साथ मारपीट कर डेढ़ लाख रूपये लूट की घटना को दिया था अंजाम 

Tonk News /अलीगढ़/ शिवराज मीना। अलीगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र में 29 अप्रेल को चौरू के नजदीक चौथ का बरवाड़ा रोड़ पर एक किसान व उसके साथी से डेढ़ लाख रूपये की राशि लूट ले जाने की घटना के मामले में पुलिस ने शेष फरार आरोपी को गिरफ्तार किया गया। मामले में पुलिस ने पूर्व में पाँच आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने पर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। पुलिस ने पूर्व में गिरफ्तार किए गए पाँचों आरोपियों से रिमाण्ड़ के दौरान आरोपियों की निशानदेही पर लूट की 92000 रूपये की राशि व सरिये सहित अन्य हथियार तथा पीड़ित के दस्तावेज बरामद किए जा चुके है तथा लूट की घटना में उपयोग में ली गई कार भी प्रतापनगर जयपुर से लूटी हुई थी, जिसको पुलिस द्वारा बरामद किया गया था।

उनियारा पुलिस उपाधीक्षक कालूराम वर्मा ने बताया कि लूट की घटना के मामले में फरार चल रहे शेष आरोपी राजवीर उर्फ रामप्रसाद मीना पुत्र प्रभूलाल मीना निवासी जयलालपुरा सिसोलाव थाना बौंली जिला सवाईमाधोपुर को दो माह बाद पुलिस ने दौसा जिला कारागृह से प्रोडक्शन वारन्ट के जरिए गिरफ्तार किया गया।

मामले में पुलिस ने आरोपी धर्मसिंह पुत्र रतनलाल मीना निवासी कावड़ थाना चौथ का बरवाड़ा जिला सवाईमाधोपुर, शिवराम पुत्र रामधन मीना नेता की रामड़ी थाना मलारना डूंगर जिला सवाई माधोपुर, सोहनलाल उर्फ कालू पुत्र हनुमान मीना निवासी मलारना डूंगर जिला सवाईमाधोपुर, घनश्याम पुत्र सुवालाल गुर्जर निवासी गोरधनपुरा थाना बरोनी टोंक तथा सोहनलाल उर्फ सोनू पुत्र प्रहलाद धोबी निवासी बस्सी थाना बरोनी जिला टोंक को पूर्व में गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया।

उनियारा पुुुलिस उपाधीक्षक कालूराम वर्मा ने बताया कि गिरफ्तार लूट गिरोह के आरोपियों से रिमाण्ड अवधि के दौरान पुलिस पूछताछ में बून्दी, सवाईमाधोपुर, दौसा तथा जयपुर जिले में वाहन चोरी व लूट की घटना की कई वारदातों को करना स्वीकार किया गया।

पुलिस शेष आरोपी की तलाश के लिए पुलिस टीम गठित कर आरोपी को गिरफ्तार करने में जुटी हुई थी। पुलिस ने आरोपी को दौसा जिला कारागृह से जरिये प्रोडक्शन वारन्ट प्राप्त कर टोंक एसटी / एससी न्यायालय में पेश किया गया। जहाँ से अनुसंधान हेतु प्रार्थना पत्र पेश कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। मामले में पुलिस उपाधीक्षक उनियारा द्वारा अलीगढ़ थाना पुलिस की टीम के साथ अनुसंधान किया जा रहा है।

गौरतलब है कि गत दिनों 29 अप्रैल को परिवादी किसान खेलदास मीना व उसका साथी रामभरोसी मीना बाईक पर सवार होकर चंदवाड़ गये। जहाँ अपने आधोलिया धर्मसिंह से अपनी सरसों व चन्ने की फसल का हिसाब कर डेढ़ लाख रुपये लेकर वापस बाईक से अपने गाँव लोट रहे थे। इसी बीच चौरू गाँव के आगे चौथ का बरवाड़ा मार्ग पर सामने से आ रही एक सफेद कार ने बाईक के टक्कर मार दी।

जिसके बाईक सवार किसान व एक अन्य साथी गिरकर जख्मी हो गए। इसके बाद कार में सवार होकर आए चार-पाँच बदमाशों ने बाईक सवार किसान व उसके साथी पर सरिये व धारदार हथियारों से मारपीट कर उनसे डेढ़ लाख रुपए की नकदी लूटकर फरार हो गए।

मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू के आदेशानुसार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक टोंक विपिन कुमार शर्मा के मार्गदर्शन में उनियारा पुलिस उपाधीक्षक के नैतृत्व में गठित पुलिस टीम ने लूट की घटना के बाद लूट के आरोपियों की तलाश कर लूट के गिरोह का पर्दाफाश कर लूट के आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की गई।