शहीद हुए हवलदार लक्ष्मण सिंह गुर्जर ने देश के मान को बढ़ाया,नम आँखों से अर्पित की श्रदांजलि

Martyr Lakhman Singh Gurjar
शहीद हवलदार लक्ष्मण सिंह गुर्जर

मृतक के डेढ़ वर्षीय पुत्र ओमेंद्र ने मुखाग्नि दी

 

 

 

हिंडौन सिटी ( पुनीत पाठक )। सियाचिन क्षेत्र के ऑपरेशन क्षेत्र में गश्त के दौरान हिमस्खलन मे दबने से तबीयत बिगड़ने के बाद उपचार के दौरान शंकरपुर की ढाणी के हवलदार लक्ष्मण सिंह गुर्जर शहीद हो गए। जब उनका देह बुधवार सुबह घर पहुंचा तो ग्रामीणों ने परिवारजनों की आंखें नम हो गई हवलदार लक्ष्मण सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा ।

Martyr Lakhman Singh Gurjar
शहीद हुए हवलदार लक्ष्मण सिंह गुर्जर

अंतिम यात्रा में पुलिस प्रशासन के साथ-साथ अधिकारी व राजनेता भी पहुंचे सैन्य सम्मान से की गई अंत्येष्टि के दौरान जब मृतक के डेढ़ वर्षीय पुत्र ओमेंद्र ने मुखाग्नि दी तो लोगों की आंखों से आंसू छलक पड़े मासूम को पता भी नहीं था कि पिता का साया उसके सर से उठ चुका है।

Martyr Lakhman Singh Gurjar
मृतक के डेढ़ वर्षीय पुत्र ओमेंद्र ने मुखाग्नि दी

मृतक लक्ष्मण की पत्नी कस्तूरी देवी लगातार रोने से बार-बार बेहोश हो रही थी मुखाग्नि देने से पहले 11 वी आर्मी बटालियन के नायब सूबेदार सतविंदर चंचल सिंह मैं सुरेंद्र सिंह ने पुष्पचक्र अर्पित किया।

इस दौरान हिंडौन विधायक राजकुमारी जाटव पूर्व मंत्री भरोसीलाल जाटव गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला टिकरिया सरपंच हरप्रसाद तंवर महू इब्राहिमपुर सरपंच शिवसिंह खेरवाल सपोटरा विधायक रमेश मीणा DSP मनजीत सिंह एसडीओ दुली चंद मीणा सदर थाना प्रभारी रामवीर सिंह भी मौके पर श्रद्धांजलि देने पहुंचे।