जोधपुर में कोहरे व सर्दी से थमा जनजीवन: पारा 6 से 10 डिग्री के बीच

Jodhpur News ।  प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में शनिवार को हुई बारिश से मारवाड़ में मौसम ने बेजा पलटी मारी है। अब तक शीत लहर से जूंझ रहे मारवासियों को रविवार को घने कोहरे का सामना करना पड़ा। दोपहर तक घना कोहरा छाए रहने और सर्दी से मानो जीवन ठहर सा गया है। रविवारीय अवकाश के चलते ज्यादातर लोग घरों में ही दिन बिताने को विवश है। दोपहर तक कोहरे की चादर छाई रही और सूर्यदेव का ताप भी ढंग से नसीब नहीं हो सका।
 मारवाड़ में आज सुबह से ही सर्दी का असर तेजी पर रहा। जोधपुर शहर में तापमान एक तरफ 10 डिग्री के आस पास बना तो फलोदी में 6 डिग्री के आस पास रहा। जैसलमेर, बाड़मेर और पाली जालोरी सिरोही में कमोबेश ऐसे ही हालात रहे। इन इलाकों में भी सुबह से कोहरा छाया हुआ है। मौसम विभाग ने आगामी 6 जनवरी तक मौसम यथावत रहने की चेतावनी जारी की है। लोगों को शीत से बचाव के लिए घरों में सलाह दी गई है। कोल्ड स्ट्रोम से बेजा सर्दी का आभास बना हुआ है। दिनचर्या पूरी तरह बदल गई है।
दक्षिण पश्चिमी विक्षोभ के असर से बारिश व ओलावृष्टि की चेतावनी भी है। ऐसे मेें आगामी 24 घंटों में प्रदेश में कहीं कहीं बारिश व ओलावृष्टि का दौर बन सकता है। रात को कोटा में बारिश हुई तो रविवार को राजधानी जयपुर में रिमझिम बारिश के समाचार है। ऐसे में प्रदेश में ठंड का मौसम बढऩे की संभावना बनी है।
मारवाड़ में इस साल के तीसरे दिन की सुबह बर्फीली हवाओं और कोहरे से हुई। सर्द हवाओं ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया है। इन ठंडी हवाओं से लोगों की धूजणी छूट गई। ठंडी हवाओं के कारण आम जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हो गया है।
नए पश्चिमी विक्षोभ, हिमपात के असर के चलते जोधपुर और मारवाड़ में मौसम का मिजाज पूरी तरह से बदल गया है। इससे सर्दी से राहत नहीं मिल रही। रविवार को कोहरा, बादल छाने से सूर्यदेव ने सुबह देर तक आमजन को दर्शन नहीं दिए। इधर आसपास के इलाकों में मावठ की संभावना के चलते किसानों के चेहरों पर रौनक देखने को मिल रही है। गेहूं, जौ के लिए मावठ फायदेमंद तो सरसों की फसल के लिए बारिश नुकसानदायक रहने वाली है।