घट स्थापना के साथ आसोजी नवरात्र शुरू

file photo

Jodhpur news। घर घर घट स्थापना के साथ ही शनिवार से शारदीय नवरात्र शुरू हो गए। सुबह शुभ मुहूर्त में लोगों ने अपने अपने घरों में घट स्थापना की और मां के विविध रूपों की पूजा अर्चना की गई। आज पहले दिन मां शैलपुत्री की विशेष रूप से पूजा की गई। घर घर घट स्थापना के साथ ही नवरात्र की शुरूआत के साथ ही शहर में परम्परानुसार मेहरानगढ़ में भी मां चामुंडा की पूजा अर्चना की गई।

मगर दर्शनार्थियों को इसका लाभ नहीं मिल पाया। पुलिस का माकूल बंदोबस्त आस पास रखा गया। कई श्रद्धालु किले के बाहर ही गेट पर शीश नवाकर चले गए। यह पहला अवसर है कि मेहरानगढ़ दुर्ग में मां चामुंडा के दर्शनों का लाभ देवी भक्तों को नहीं मिल पाया। हालांकि ऑन लाइन व्यवस्था हो रखी है। गली मोहल्लों में इस बार ना तो डांडियां की धुन सुनाई देगी और ना ही गरबा रास हो पाएगा। 

आज सुबह से पूजा का प्रारंभ तथा घट स्थापना के लिए सुबह 8.07 से 9.32 तक शुभ मुहूर्त में घट स्थापन शुरू हुई। घरों और मंदिरों में मां की घट स्थापना की गई, लेकिन कोरोना महामारी के कारण माता मंदिरों के कपाट भक्तों के लिए बंद रहे। 


मेहरानगढ़ नजर आया सूना:


सूर्यनगरी में 550 साल से अधिक पुराने किले में पहली बार भक्त मां चामुंडा के दर्शन के लिए शहरवासी नहीं जा सके। पूरा मंदिर परिसर सूना नजर आ रहा था। केवल पुजारी व मंदिर से जुड़े लोगों ने ही सवेरे घट स्थापना कर पूजा अर्चना की। भक्तों के लिए इस बार मेहरानगढ़ फोर्ट की प्राचीर से हर शाम पौने सात बजे आरती की ज्योत के दर्शन की व्यवस्था की गई है।

ऐतिहासिक मेहरानगढ़ दुर्ग में स्थित मां चामुंडा के मंदिर में बड़ी संख्या में जोधपुर वासी शीश नवाने जाते हैं, वहीं जोधपुर राज परिवार से जुड़े लोग भी इन नौ दिनों में विशेष अनुष्ठान का आयोजन करते हैं, जिसमें की वेद पार्टी ब्राह्मणों द्वारा अनुष्ठान संपन्न किए जाते हैं लेकिन इस बार लोगबाग घरों में ही घट स्थापना कर मां शारदा के विविध रूपों की पूजा-अर्चना कर सकेंगे।

Slider