शहरोँ की सरकार में कूदी रालोपा, 20 जिलों के 90 निकायों में प्रभारी नियुक्त

File Photo

Jaipur news। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने 20 जिलों के सभी 90 निकायों में चुनाव लडऩे की घोषणा करने के बाद रविवार को जिला प्रभारियों का ऐलान कर दिया। जिला प्रभारियों की सूची में पार्टी के तीन विधायकों और पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही सभी प्रभारियों को प्रभार वाले जिलों में प्रवास करने के निर्देश दिए गए हैं।

सूची में रालोपा के प्रदेश अध्यक्ष व भोपालगढ़ विधायक ,पुखराज गर्ग को नागौर, खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल को भीलवाड़ा और मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी को पाली जिले की जिम्मेदारी सौंपी गई है। रालोपा जिला प्रभारियों की सूची में अजमेर में जगदीश लांबा व रोहित गुर्जर, बांसवाड़ा में उम्मेदाराम बेनीवाल, बीकानेर में स्पर्धा चौधरी, बूंदी में राजूराम खोजा व सुभाष कड़वासरा, प्रतापगढ़ में कालूराम जाट, चित्तौडग़ढ़ में शंकरलाल नारोलिया, चूरु में विजयपाल बेनीवाल, डूंगरपुर में भागीरथ नैण, हनुमानगढ़ में सुरेश विश्रोई, जैसलमेर में अब्दुल रहूफ खान, जालोर में उदाराम मेघवाल व प्रताप आंजणा, झालावाड़ में बाबू रेहड़ा, झुंझुनूं में मनीष चौधरी व रणदीप चौधरी, राजसमंद में रमेश जाजूंदा व रामनिवास हरितवाल, सीकर में छुट्टन यादव, टौंक में रामस्वरूप कसाणा व बाबू रेहड़ा तथा उदयपुर में डॉ. विवेक माचरा को प्रभारी का दायित्व दिया गया है।

सूची में प्रदेश के अजमेर, बूंदी, जालोर, झुंझुनूं, राजसमन्द और टोंक में दो-दो पदाधिकारियों को जबकि शेष जिलों में एक-एक पदाधिकारियों को प्रभारी बनाया गया है। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल एनडीए गठबंधन से नाता तोडऩे के बाद भाजपा के खिलाफ ज़्यादा आक्रामक तेवर दिखा रहे हैं। सांसद बेनीवाल ने जहां शनिवार को 90 निकायों में चुनाव और तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव लडऩे का औपचारिक ऐलान किया, तो वहीं भाजपा को रालोपा के सहयोग से जीती लोकसभा सीटों पर सांसदों से इस्तीफे दिलवाने और फिर से चुनाव करवाने की चुनौती भी दे डाली है।