कांग्रेस केवल धरने की औपचारिकता में ,आंदोलन में मर चुके कई किसान : बेनीवाल

File Photo

Jaipur News । राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने रविवार को शाहजहांपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन के बीच कार्यकारिणी की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने पड़ाव स्थल से जयपुर के शहीद स्मारक पर रविवार को दिए गए धरने को लेकर कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाए।

उन्होंने कहा कि एक महीने से ज्यादा समय से देश के अन्नदाता सडक़ों पर कड़ाके की ठंड में बैठे हैं। कई किसान शहादत दे चुके हैं। ऐसे में कांग्रेस ने इतने समय के बाद आज केवल सांकेतिक धरना देकर यह साबित कर दिया कि वो किसानों के साथ महज औपचारिकता निभा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसान हितैषी होती तो सत्ता में आते ही 10 दिनों में किसानों की कर्जमाफी करती। कांग्रेस सत्ता में आने के बाद जनता से किए वादों से मुकर गई।
शाहजहांपुर बॉर्डर पर ही रविवार को आरएलपी कार्यकारिणी की बैठक हुई। इसमें बेनीवाल ने कहा कि 4 जनवरी की वार्ता में केंद्र अपना रुख नही बदलती है तो आरएलपी किसान आंदोलन के समर्थन पर अपनी नई रणनीति पर विचार करेगी। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग और मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी सहित पार्टी की कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे।
सांसद बेनीवाल ने उन्होंने युवाओं के साथ किसानों के पड़ावस्थल का पैदल जायजा लिया हैं। वे हरियाणा की सीमा पर लगाए गए बेरीकेड्स तक गए हैं। यहां युवाओं ने बैरिकेडिंग तोडऩे की कोशिश की जिस पर सांसद ने समझाईश करते हुए मामला शांत करवाया। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के समर्थन में हमें शान्तिपूर्वक रूप से हर कदम को उठाना है।