ग्राम जल एवं स्वच्छता कमेटियों के गठन में पहले पर दौसा , बाड़मेर दूसरे स्थान पर

dainik reporters news

Jaipur News । राजस्थान में ग्राम जल एवं स्वच्छता कमेटियों के गठन में दौसा पहले पायदान पर है। दौसा में 90.01 फीसदी कमेटियों का गठन किया जा चुका है। दूसरे नंबर पर बाड़मेर जिला है और तीसरे नंबर पर भरतपुर। इसी तरह चौथे स्थान पर चूरू जिला है। बांसवाड़ा और झुंझनू जिलों में अभी तक एक भी कमेटी का गठन नहीं किया गया है। राज्य भर में अब तक 12 हजार 432 ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियों का गठन किया जा चुका है।

 

जल जीवन मिशन योजना के लिए गठित की जा रही ग्रामीण स्तरीय कमेटियों में बाड़मेर ने प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल किया है। जिले भर में अब तक 88.5 फीसदी लक्ष्य हासिल कर लिया है। जिले में 2 हजार 169 कमेटियों का गठन किया जा चुका है। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यवाहक अधीक्षण अभियंता सोनाराम बेनीवाल ने बताया कि 2024 तक जिले के हर घर को नल कनेक्शन से जोडऩे के लिए शुरू की गई जल जीवन मिशन योजना के तहत ग्राम स्तर पर क्रियान्वयन के लिए ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियां गठित की जा रही है। इन कमेटियों के जिम्मे हर घर नल कनेक्शन पहुंचाने की जिम्मेदारी और उनकी निगरानी का काम रहेगा। बाड़मेर की 21 पंचायत समितियों में इसके लिए ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियां गठित की जा रही है।

 

बेनीवाल ने बताया कि बाड़मेर जिले में गडरा रोड़ में 110, रामसर में 124, शिव में 106, बायतु में 217, सिणधरी में 110, पाटौदी में 108, गिड़ा में 171, बाड़मेर में 194, धोरीमन्ना में 71, बाड़मेर ग्रामीण में 167, चौहटन में 115, धनाऊ में 59, गुढ़ामालानी में 134, पायल कला में 65, आडेल में 30, फागलिया में 41, सेड़वा में 32, बालोतरा में 89, समदड़ी में 62, कल्याणपुर में 75 और सिवाना में 89 ग्राम जल एवं स्वच्छता कमेटियों का गठन किया जा चुका है।

 

जल जीवन मिशन के सफल क्रियान्वयन के लिए ग्राम स्तर पर गठित की जा रही कमेटियों के साथ गांवों के शिक्षित बेरोजगारों को भी अपने गांव में कार्य कुशलता से जोड़ा जाएगा। जल जीवन मिशन के आईईसी कंसलन्टेन्ट अशोक सिंह ने बताया कि राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम चयनित प्रशिक्षण प्रदाताओं के माध्यम से प्लम्बिंग, इलेक्ट्रीशियन और फीटर ट्रेड में बाड़मेर जिले में 1365 युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रति ट्रेड के हिसाब से 455 युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। आगामी दिनों में राजस्थान कौशल और आजीविका विकास निगम और जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग का वाटर सेनिटेशन सपोर्ट ऑर्गेनाईजेशन राज्य जल एवं स्वच्छता मिशन राजस्थान बाड़मेर जिले में यह प्रशिक्षण आयोजित करवाएगा।