देशभर में 500 से अधिक अकाउंट हैक कर ठगी करने वालें ठग गिरफ्तार

Hacked account, cash withdrawal of one lakh rupees

Jaipur News।जयपुर ग्रामीण जिले के प्रागपुरा थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए साइबर ठगी करने  वाले एक शातिर ठग को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित के पास से 8 मोबाइल, लैपटॉप, 25 सिम, 10  एटीएम कार्ड डेढ़ लाख की बाइक और 3 लाख 26 हजार जब्त किए है और इसके साथ ही फोन में मिले करीब 1000
वीआईपी प्रोफाइल, 100 आधार कार्ड और 100 पैन कार्ड और करीब 500 से अधिक फर्जी और ठगी किए जाने वाले  जीमेल अकाउंट बरामद किए है।

जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि आरोपी संदीप चौधरी (25) निवासी खिंवासर, गुड़ागौड़जी, जिला झुंझुनूं को गिरफ्तार किया गया है। वह ठगी के मामले में वर्ष 2018 में हरियाणा में भी गिरफ्तार हुआ था।

वह जयपुर ग्रामीण जिले के प्रागपुरा और चंदवाजी में भी लोगों ऑनलाइन ठगी कर चुका है। प्रारंभिक पूछताछ में संदीप चौधरी ने राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश सहित कई अन्य राज्यों में 500 से ज्यादा लोगों के  अकाउंट हैक कर ठगी करना बताया है।

इस संबंध में जयपुर ग्रामीण जिले के सामोद थानाप्रभारी हरबेंद्र सिंह ने 3 अप्रेल 2020 को केस दर्ज करवाया था  कि उनके मोबाइल नंबर पर व्हाट्स एप अकाउंट को हैक कर किसी व्यक्ति ने उनका फोटा लगा लिया है और फिर  उनके परिचितों को मैसेज भेजकर खुद को मुसीबत में बताकर अपने खाते में 5000 रुपए ट्रांसफर करने को कह रहा है। यह रकम वह पेटीएम से मांग रहा है।

इससे पुलिस सबइंस्पेक्टर हरबेंद्र सिंह के परिचितों ने उन्हें समझकर शातिर ठग संदीप के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर दिया। जिसे उसने हड़प लिया। पुलिस ने सायबर सेल की मदद से मोबाइल नंबरों, पेटीएम पर बने डिजीटल अकाउंट्स के बारे में जानकारी जुटाई। लेकिन वह बचता रहा। क्योंकि संदीप ठगी की वारदात में दूसरे राज्यों की
मोबाइल नंबरों का उपयोग कर रहा था। आखिरकार, संदीप को झुंझुनूं में गुड़ागौढ़ जी बस स्टैंड से धर दबोचा।

प्रागपुरा के प्रोबेशनर आईपीएस बृजेश ज्योति उपाध्याय ने बताया कि आरोपी संदीप चौधरी को गिरफ्तार कर उसके  पास से 8 मोबाइल, लैपटॉप, 25 सिम, 10 एटीएम कार्ड डेढ़ लाख की बाइक और 3 लाख 26 हजार जब्त कर साथ  ही फोन में मिले करीब 1000 वीआईपी प्रोफाइल, 100 आधार कार्ड और 100 पैन कार्ड बरामद किए गए है।

आरोपित व्हाट्सएप पर फेक अकाउंट बनाकर साइबर ठगी करता है और फर्जी तरीके से नंबरों का यूज कर डिजिटल अकाउंट  खोलकर फेक अकाउंट बनाकर परिचितों से रुपये मांगता था। आरोपित राजस्थान हरियाणा दिल्ली महाराष्ट्र मध्य प्रदेश  समेत कई राज्यों में ठगी कर चुका है।