भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने किसानों के मुद्दे पर मुख्यमंत्री गहलोत से पूछे 7 सवाल

Jaipur News । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कांग्रेस के धरने पर सवाल उठाते हुए कहा कि पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ये स्पष्ट करें कि प्रदेश के मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने किसानों से किए हुए वादों को पूरा क्यों नहीं किया।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में पूरी तरह फेल हो चुके अशोक गहलोत किसानों को भड़काकर प्रदेश का माहौल खराब करना चाहते हैं। केन्द्र सरकार के किसी भी जनकल्याणकारी फैसले के खिलाफ अपनी पार्टी के नेताओं को ले जाकर धरने पर बैठ जाते हैं। मुख्यमंत्री के रूप में कुछ करते नहीं, दो वर्ष के कालखण्ड में गिनाने के लिए कुछ है नहीं, इसलिए ध्यान भटकाने के लिए झूठ बोलते हैं। जनता ने जिस सरकार को प्रदेश की भलाई के लिए चुना था, वो पूरी सरकार पिछले दो वर्षों से मोदी सरकार के खिलाफ केवल धरने ही करती रही।

पुनिया ने कहा कि चुनावों के समय किसानों से वादा किया था कि सरकार में आयेंगे तो 10 दिन में सम्पूर्ण किसानों का सम्पूर्ण कर्जा माफ करेंगे, 2 साल हो गये केवल 7 प्रतिशत किसानों का कर्जा आपने माफ किया है। आपके शासन में पिछले दो वर्षों में चार दर्जन किसानों ने आत्महत्या कर ली। प्रदेश के किसान रबी की फसल की सिंचाई कड़ाके की ठण्ड में रात्रि में करने को मजबूर है, क्योंकि आपकी सरकार उन्हें बिजली दिन के बजाए रात में दे रही है, जिससे कई किसानों की मौत भी हो गई।
भाजपा की पूर्ववर्ती प्रदेश सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए 10 हजार रूपये सालाना बिजली बिलों में अनुदान देने का काम किया था, आपने उसे क्यों बंद कर दिया? सहकारी बैंकों से किसानों को फसली ऋण आपकी सरकार में नहीं मिल रहा है, उस पर आपका क्या कहना हैं ? आपके दो वर्ष के शासन में किसानों को नये बिजली कनेक्शन मिलना लगभग बंद हो गये हैं, उस पर आपका क्या कहना है? नरेन्द्र मोदी जी की सरकार किसानों के खाते में 6 हजार रूपये सालाना डाल रही है, इसी तर्ज पर मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार ने किसानों के खाते में प्रतिवर्ष 4 हजार रूपये डालने की घोषणा की है, किसान कल्याण के लिए आप इसे राजस्थान में कब लागू कर रहे है।