अमित शाह को निकटतम बताकर शहर के आठ लोगों से लाखों की ठगी

dainikreporters
File Photo - Amit Shah

Jodhpur News। जोधपुर शहर के देवनगर पुलिस थाना क्षेत्र में रहने वाले आठ लोगों को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में सामाजिक सरोकार निभाने व समाज सेवा से जुडऩे का झांसा देकर लाखों की ठगी का केस सामने आया है। पीडि़तों ने एक संयुक्त रिपोर्ट देवनगर थाने में इस आशय की दर्ज करवाई है। आरोपी उत्तरप्रदेश के दो सगे भाई व अन्य बताए जाते है जिन्होंने होटल में मिटिंग कर रूपयों आदान प्रदान किया है। अब फरार बताए जाते है। पुलिस ने परिवाद पर अनुसंधान आरंभ किया है। सबसे बड़ी बात है कि आरोपियों ने खुद को भाजपा नेता अमित शाह का निकटतम भी बताया और भाजपा प्रतिनिधि होने की बात कही।

देवनगर पुलिस ने बताया कि 16बी- एस 22 चौपासनी हाऊसिंग बोर्ड निवासी त्रिलोकचंद जाट पुत्र भोमाराम जाट की तरफ से रिपोर्ट दी गई। इसमें बताया कि उसकी पहचान उत्तरप्रदेश के फैजाबाद कलाला निवासी देवानंद उर्फ देव शर्मा पुत्र जवाहर शर्मा और उसके भाई अमर बहादूर से थी। गत वर्ष जुलाई में इन लोगों ने चौथा पुलिया पर आई एक होटल में मिटिंग की थी। जिसमें उक्त अभियुक्तों ने बताया कि उनकी पहचान भाजपा के कई प्रतिनिधियों से है और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह उनके निकटतम है।

इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की जानकारी दी। इसमें समाज सेवाा और सामाजिक सरोकार निभाने के लिए अनुदान मांगा और बड़े प्रलोभन का झांसा दिया। इसमें बताया कि यदि वे स्वावलंबन, महिला व पुरूष विकलांगता और ग्रामीणोत्थान में पैसे लगाएंगे तो बड़ा मुनाफा होगा।

इस पर त्रिलोक चंद ने अपने कुछ परिचितों से बात की तब आठ लोगों ने मिलकर उक्त दोनों भाईयों को अलग अलग किश्तों में लाखों रूपए दे दिए। मगर योजना का लाभ उन्हें नहीं मिल पाया। पुलिस ने बताया कि दी गई रकम को खुलासा नहीं किया गया है। मगर घोटाला लाखों का है। बदमाशों ने बाद में चेक भी दिया जोकि अनादरित हो गया। फिलहाल देवनगर पुलिस ने अभियुक्तों के खिलाफ धोखाधड़ी में केस दर्ज किया है।