जयपुर एसडीएम की बहन को बंधक बना हत्या, डकैती,दहशत

File Photo - मृतका विद्या देवी

Jaipur News। शिप्रापथ थाना इलाके में थड़ी मार्केट में सोमवार अलसुबह घर में डकैती की नियत से घुसे बदमाशों ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी की बहन की बंधक बनाकर हत्या कर दी और लूटपाट कर मौके से फरार हो गए। लोगों की सूचना पर पुलिस के आलाधिकारी समेत थाना जाब्ता मौके पर पहुंचा और शव को अपने कब्जे मे लेकर बदमाशों को पकडने के लिए जयपुर जिले में ए-श्रेणी की नाकाबंदी कराई। फिलहाल बदमाशों को कोई सुराग नहीं लग पाया है। वहीं पुलिस ने मौके पर डॉग स्क्वायड व विधि विज्ञान प्रयोग शाला (एफएसएल) टीम की मदद से मौके से साक्ष्य जुटाए है।

पुलिस द्वारा माना जा रहा है कि आधा दर्जन बदमाशों ने योजनाबद्ध तरीके से डकैती के लिए वारदात को अंजाम दिया है।

पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। पुलिस को शक है कि हत्या और लूट में किसी नजदीकी व्यक्ति का हाथ हो सकता है। फिलहाल मामले की जांच पडताल की जा रही है।

थानाधिकारी महावीर सिंह ने बताया कि मृतका विद्या देवी (55) सेक्टर-23 थड़ी मार्केट मानसरोवर की रहने वाली थी और बच्चों के शहर से बाहर रहने के कारण यहां अकेली रहती थी। उनके छोटे भाई युगांतर शर्मा आरएएस हैं,वे जयपुर शहर में एसडीएम हैं। सोमवार अलसुबह घर में घुसे आधा दर्जन हथियारबंद बदमाशों द्वारा विद्या देवी को मकान के एक कमरे में बंधक बना लिया।

इस दौरान बदमाशों और विद्या देवी में संघर्ष भी हुआ,तो बदमाशों ने उनका मोबाइल तोड़ कर हाथ-पांव शॉल से बांधने के बाद मौत के घाट उतार दिया। सुबह करीब साढ़े 6 बजे विद्या देवी को पड़ौसियों ने घर में झाडू निकालते हुए देखा था। जिसके बाद से वह घर के बाहर नहीं निकली। दूध देने वाला आए व्यक्ति ने विद्या देवी को काफी आवाज लगाई, लेकिन अंदर से कोई जबाव नहीं आने पर गेट खोलकर अंदर जाने पर विद्या देवी बंधक स्थिति में अचेतावस्था में कमरे में पड़ी दिखी। शोर मचाकर बाहर की और दौड़ते हुए उसने पडौसियों को इस बारे में बताया।

जिस पर पुलिस को सूचना दी गई और फिर तुरंत विद्या देवी अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हत्या की सूचना पर शहर व हाईवे पर ए-श्रेणी की नाकाबंदी कराई गई। पुलिस ने डॉग स्क्वायड व विधि विज्ञान प्रयोग शाला (एफएसएल) टीम की मदद से मौके से साक्ष्य जुटाए। पुलिस घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों को खंगाल रही है। पुलिस प्रथमदृष्टया मान रही है कि रैकी कर बदमाशों ने डकैती की योजना बनाई। जिसके बाद आधा दर्जन बदमाशों ने घर में घुसकर वारदात को अंजाम दिया वहीं हत्या और लूट के पीछे किसी परिचित का हाथ होने की आंशका जताई जा रही है। घर से लूटे गए सामान के बारे में जानकारी जुटा रही है।इसके अलावा मृतका के घरवालों को सूचित कर दिया गया है।