व्हाट्सएप लिंक भेज पुलिस ने दबोचा दुष्कर्म का आरोपित

नाबालिग किशोरी से दुष्कर्म कर फरार चल रहा आरोपित गिरफ्तार
Jaipur News ।जयपुर ग्रामीण जिले के प्रागपुरा थाना पुलिस ने एक नाबालिग किशोरी से होटल में दुष्कर्म कर एक साल से फरार चल रहे आरोपित को गिरफ्तार किया गया है। जांच पडताल में सामने आया ​कि आरोपित वारदात के बाद पुलिस से बचने के लिए पिछले एक साल से डिजीटल तकनीक का उपयोग कर रहा था। जिसकी लोकेशन पुलिस ट्रेस नहीं कर पा रही थी।
जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि प्रागपुरा थाना पुलिस ने  कृष्ण कुमार स्वामी (20) निवासी तन पाछुडाला,प्रागपुरा जिला जयपुर गिरफ्तार को किया है।वहीं  इस मामले में सहआरोपित एक महिला पहले गिरफ्तार हो चुकी है। आरोपित के खिलाफ पीडिता के भाई ने जनवरी 2020 को थाने में मामला दर्ज करवाया था कि आरोपित कृष्ण कुमार स्वामी की पड़ोसी रहने वाली एक महिला ने पीडित की बहन से मुलाकात करवाई। फिर वही महिला अपने मोबाइल फोन से चोरी छिपे आरोपित कृष्ण कुमार की बातचीत उसकी बहन से करवाने लगी। 14 दिसंबर 2019 को उसकी बहन स्कूल से घर लौट रही थी।
इस दौरान आरोपित कृष्ण कुमार उसे घर छोड़ने के बहाने बाइक पर बैठाकर पावटा स्थित एक होटल में ले जाकर उसके जबरन दुष्कर्म किया। इसके बाद बहन को धमकी दी कि इस बारे में किसी को बताया तो जान से मार देगा। कुछ समय तक तो पीड़िता चुप रही है और एक दिन हिम्मत कर परिजनों को इस बारे में बताया। इस पर पीडिता के साथ थाने पहुंचे और मामला दर्ज करवाया। वहीं मामला सामने आने के बाद आरोपि​त कृष्ण कुमार फरार हो गया। आरोपित  पुलिस से बचने के लिए सायबर तकनीक का इस्तेमाल करते हुए अपने परिजनों से  वॉट्सएप कॉलिंग से बातचीत करता था। इसके लिए वह बिना सिम का मोबाइल फोन और इंटरनेट कनेक्शन के लिए डोंगल का उपयोग कर रहा था।
जिसे मोबाइल से कनेक्ट कर रखा था। ऐसे में एक साल तक वह बचता रहा। इस पर पुलिस ने आरोपित कृष्ण कुमार और उसके परिजनों के मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल निकाली। लेकिन इसमें कुछ नहीं मिला। इसके बाद पता चला कि आरोपित कृष्ण कुमार ने सोशल मीडिया पर फोटो अपलोड किए है। तब पुलिस ने सायबर तकनीक की मदद से आरोपित के फोटो के आसपास के लोकेशन की जानकारी जुटाई। इस बीच पुलिस ने कृष्ण कुमार को एक व्हाट्सएप लिंक भेजा, जिसे खोलते हुए ही आरोपित कृष्ण कुमार की लोकेशन जयपुर जिले में ट्रेप हुई और फिर पुलिस ने उसे धर—दबोचा।