यूपी उपचुनाव में प्रचार करने पहुंचे सचिन पायलट आक्रामक अंदाज में, योगी सरकार पर बरसे

jaipur news / शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार। मध्य प्रदेश के विधानसभा उपचुनाव में पहुंचे राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर भाजपा से मिलीभगत के आरोप लग रहे थे । इसका कारण था कि पायलट एमपी में जहां प्रचार करने पहुंचे थे वह उनके मित्र और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का गढ़ है । इसलिए विरोधियों ने दोनों की दोस्ती का हवाला देकर भाजपा के खिलाफ सचिन पायलट का सॉफ्ट रवैया अपनाने के आरोप लगाए थे । लेकिन आज सचिन पायलट ने विरोधियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के खिलाफ करारा हमला बोला । यही नहीं आज यूपी में उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार को भ्रष्टाचारी कह डाला ।

सचिन पायलट ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम पर है । उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता अब भाजपा सरकार से परिवर्तन चाहती है । बता दें कि उत्तर प्रदेश में भी आठ विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव कराए जा रहे हैं । उन्हीं में से नोएडा से सटे जिले बुलंदशहर में एक सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के लिए शुक्रवार को प्रचार करने सचिन पायलट पहुंचे थे । इस मौके पर पायलट ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता बदहाल कानून व्यवस्था बढ़ते भ्रष्टाचार से आजिज आ गई है और बदलाव चाह रही है ।

भाजपा और बसपा की शुरू हो रही दोस्ती पर पायलट ने दिया जवाब—

पिछले कुछ दिनों से सियासी गलियारों में भाजपा और बसपा कि शुरू हो रही दोस्ती सुर्खियों में बनी हुई है । इन दोनों की दोस्ती कांग्रेस को रास नहीं आ रही है । मायावती का भाजपा के प्रति प्रेम पर सचिन पायलट ने हमला बोला । पायलट ने बसपा सुप्रीमो मायावती के भाजपा को समर्थन देने का विकल्प खुला होने संबंधी बयान पर तंज कसते हुए कहा कि इससे स्पष्ट हो गया है कि कौन किसके साथ है।

उन्होंने कहा जनता भी समझदार है और इसका जवाब चुनावों में देगी। उत्तर प्रदेश में केवल कांग्रेस ही मजबूत सरकार दे सकती है। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में जीत से किसी पार्टी को कुछ खास फर्क नहीं पड़ेगा, लेकिन इससे बदलाव का एक संदेश जरूर जनता में जाएगा। मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उप-चुनाव को लेकर सचिन पायलट ने कहा कि वहां कांग्रेस की स्थिति अच्छी है और लगभग सभी सीटों पर पार्टी को विजय मिलने की संभावना है।