नशीली दवाइयों का कारोबार करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, दो गिरफ़्तार

नशीली दवाइयों का कारोबार करने वाले गिरोह का भंडाफोड़,दो आरोपितों को पुलिस ने किया गिरफ़्तार

Jaipur News ।  जयपुर ग्रामीण जिले के प्रागपुरा थाना पुलिस और जिला स्पेशल टीम (डीएसटी)ने कार्रवाई करते हुए नशीली दवाइयों का कारोबार करने वाले गिरोह के एक गोदाम पर छापामारी कर भारी मात्रा में कैप्सूल व टेबलेट्स बरामद किया है। इसके अलावा एक कट्टा भी जब्त कर दो आरोपितों को गिरफ़्तार किया गया ​है। पकडे गए ये दोनों आरोपित प्रागपुरा इलाके के मण्ढा गांव में मेडिकल शॉप व बूट हाउस की दुकान चलाते है। यहीं पर चोरी छिपे नशीली दवा ट्रामाडोल (ड्रग्स) बेचते है। फिलहाल आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। 

 जयपुर ग्रामीण् पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा  प्रागपूरा थाना पुलिस और जिला स्पेशल टीम (डीएसटी)ने कार्रवाई करते हुए नशीली दवाइयों का कारोबार करने वाले गिरोह के बूट हाउस संचालक लीलाराम मीणा (32) एवं मेडिकल स्टोर संचालक पेप सिंह (40) गांव मंढा थाना प्रागपुरा को गिरफ्तार किया गया है।  पिछले कुछ दिनों से पुलिस को शिकायत मिल रही थी कि ये दोनों नशीली दवा गैर कानूनी तरीके से बेच रहे है। पुलिस टीम का गठन कर इन पर  निगरानी रखी। जिला स्पेशल टीम (डीएसटी) प्रभारी एसआई हेमराज मीणा व प्रागपुरा थानाधिकारी बृजेश ज्योति उपाध्याय (ट्रेनी आईपीएस) के नेतृत्व में टीम गठित कर इस गिरोह का खुलासा किया गया।

 
 जूते चप्पल के कार्टनों के छिपा कर रखे थे नशीले कैप्सूल

थानाधिकारी बृजेश ज्योति उपाध्याय (ट्रेनी आईपीएस) ने बताया कि पुलिस टीम ने गांव मंढा स्थित लक्षिका बूट हाउस नाम की दुकान में दबिश दी। वहां दुकानदार लीलाराम मीणा के पहने हुए पायजामे में से एक अवैध देशी कट्टा बरामद किया। लीलाराम की बूट हाउस दुकान के अन्दर तलाशी लेने पर पुलिस ने जूते चप्पलों के कार्टनों के पीछे छिपाकर रखे ट्रामाडोल कैप्सूल बरामद किये। मौके पर औषधि नियंत्रण अधिकारी को बुलाया गया। पूछताछ में आरोपित लीलाराम यह सामने आया कि वह इन नशीली दवाइयों को निशा मेडिकोज गांव मंढा से बेचने के लिए लाता है। तब पुलिस टीम ने मंडा गांव में स्थित मेडीकल शॉप संचालक पेप सिंह को पकड़ा। उसकी दुकान के अन्दर तलाशी ली। जहां काफी मात्रा में ट्रामाडोल के कैप्सूल व टेबलेट्स बरामद किए। तब पुलिस ने पेप सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपितों के खिलाफ प्रागपुरा थाना पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया।


ट्रामाडोल कैप्सूल के सेवन से नींद में बदलाव सहित अचानक वजन का घटता-बढता है

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोटपूतली रामकुमार कस्वां ने बताया कि कुछ समय पूर्व भी कस्बा पावटा में मेडिकल की आड़ में नशीली दवाइयां भारी मात्रा में जब्त की गई थी। इसके खिलाफ पुलिस का अभियान जारी है। ट्रामाडोल की लत के लक्षण सामान्यतया अत्यधिक लाल आंखें, भूख या नींद पैटर्न में परिवर्तन, अस्थिर समन्वय, बोली में परिवर्तन, मिर्गी के इतिहास के बिना दौरे, अचानक वजन घटना या वजन बढ़ना, अस्पष्ट चोटें या दुर्घटनाएं आदि है। इन भौतिक संकेतों के बावजूद नशे की लत से व्यक्ति के व्यवहार में बदलाव भी आ जाता है। जैसे अंतर्मुखी मिजाज, समाज से दूरी बनाना, प्रेरणा में अचानक कमी, व्यक्तित्व या दृष्टिकोण में अस्पष्ट परिवर्तन आदि है।