रीट परीक्षा 2021 फरवरी में हो सकती – गोविंद सिंह डोटासरा

गोविंद सिंह डोटासरा
गोविंद सिंह डोटासरा

Jaipur News । राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा की बाट जोह रहे प्रदेश के लाखों अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है। राज्य में राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) अगले साल फरवरी में हो सकती है। शिक्षा मंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने रविवार को इस संबंध में संकेत दिए हैं।


डोटासरा ने कहा है कि नियमों में संशोधन की प्रक्रिया चल रही है, वह इस माह पूरी हो जाएगी। नवंबर तक हम नोडल एजेंसी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को भेज देंगे। इसके बाद वे विज्ञापन निकालेंगे। पेपर बनाने और आवेदन लेने में तीन माह का समय लगता है। ऐसे में फरवरी में कभी भी रीट की परीक्षा हो सकती है। रीट की परीक्षा के आयोजन की जिम्मेदारी राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पास है। बोर्ड के पास अक्टूबर से लेकर फरवरी तक अधिक काम नहीं रहता। इस कारण इसके बाद ही रीट हो सकती है।

राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा का प्रदेश के करीब दस लाख युवा इंतजार कर रहे हैं। रीट का सिलेबस बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध है। सिलेबस के एक बिन्दु को छोडक़र इसमें बदलाव की ज्यादा संभावना नहीं है। रीट भर्ती में पहली बार वाणिज्य संकाय के विद्यार्थियों को भी शामिल किया जाएगा। रीट इस बार भी प्रथम व द्वितीय लेवल के आधार पर होगी। प्रथम लेवल में रीट के अंकों के आधार पर अभ्यर्थियों को तृतीय श्रेणी शिक्षक के पद पर नियुक्ति मिलेगी, जबकि द्वितीय लेवल में रीट व स्नातक के अंकों के आधार पर नौकरी मिलनी है। स्नातक के कितने फीसदी अंक शामिल होंगे, इसकी घोषणा जल्द होगी। लेकिन स्नातक का वैटेज कम होना तय माना जा रहा है।


हाल ही में शिक्षा विभाग की ओर से 31 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती का प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा गया था, जिस पर मुख्यमंत्री ने अपनी मुहर लगा दी। इन पदों पर भर्ती से राज्य सरकार पर 2 साल तक परीवीक्षा काल में 881.61 करोड़ और इसके बाद 1717.40 करोड़ रुपए प्रतिवर्ष का वित्तीय भार आएगा।

Slider