निगम चुनाव : भाजपा व कांग्रेस को मिलेगी आरएलपी व बसपा प्रत्याशियों की चुनौती

Jaipur News । राजधानी जयपुर, जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगम के लिए हो रहे चुनाव में भाजपा और कांग्रेस ने अब तक अपने उम्मीदवार घोषित नहीं किए हैं। चुनावों में भाजपा व कांग्रेस को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अलावा आम आदमी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवारों की चुनौती भी मिलेगी। आप और बसपा भी सभी 6 निगमों में अपने प्रत्याशी खड़े करेगी। इन पार्टियों के प्रमुख चुनावी रण की तैयारियों में जुट गए हैं।

इन पार्टियों ने भी प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है


नगर निगम चुनावों के लिए 14 अक्टूबर से नामांकन पत्र भरने का कार्य शुरू हो चुका है। लेकिन, अभी तक किसी भी पार्टी ने प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की है। लिहाजा नामांकन पत्र भरने का कार्य जोर नहीं पकड़ पाया है। पर्चे दाखिल करने की अंतिम तिथि 19 अक्टूबर है। 18 अक्टूबर को अवकाश होने के कारण प्रत्याशी नामांकन पत्र जमा नहीं करा पाएंगे। तीनों शहरों के 6 निगमों के चुनाव 2 चरणों में 29 अक्टूबर और 1 नवंबर को कराए जाएंगे। 20 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 22 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे। 23 अक्टूबर को चुनाव चिह्नों का आवंटन किया जाएगा।
बसपा के प्रदेशाध्यक्ष भगवान सिंह बाबा यह कह चुके हैं कि पार्टी जयपुर, जोधपुर और कोटा के सभी नगर निगमों में अपने प्रत्याशी खड़े करेगी।

एक साल पहले हुए निकाय चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन अच्छा रहा था। विभिन्न जिलों में पार्टी के 24 पार्षद विजयी हुए थे। इस बार भी पार्टी पूरे दमखम के साथ चुनाव मैदान में उतरेगी। चुनाव के लिए पार्टी ने इच्छुक दावेदारों के आवेदन लेने शुरू कर दिए हैं।


राजस्थान लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) भी प्रत्याशी चयन की कवायद में जुटी है। पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल जयपुर में जालूपुरा स्थित आवास पर खुद दावेदारों के बायोडेटा ले रहे हैं। उनके साथ खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल व अन्य पदाधिकारी भी है। आरएलपी ने भी इस बार नगर निगम चुनाव लडऩे का फैसला किया है। आरएलपी ने मजबूत और जिताऊ प्रत्याशी चयन के लिए अपने तीनों विधायकों को प्रभारी नियुक्त किया है।

खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल को जयपुर, भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग को जोधपुर और मेड़ता विधायक इंदिरा देवी को कोटा नगर निगम चुनाव के लिए प्रभारी बनाया गया है। सांसद हनुमान बेनीवाल ने आरएलपी पार्टी के नगर निगम चुनाव लडऩे की घोषणा के दौरान ही इस बात की घोषणा कर दी थी कि निगम चुनाव आरएलपी अपने दम पर स्वतंत्र होकर लड़ेगी। बेनीवाल ने कहा था कि शहरी जनता और युवाओं की भावनाओं को देखते हुए आरएलपी ने चुनाव लडऩे का फैसला लिया है।

Slider