बैंक के मैनेजर ने अपने रिश्तेदार के साथ मिलकर रची थी 1.13 करोड़ की डकैती

Hanumangarh News। संगरिया की नई धानमंडी स्थित एक्सिस बैंक शाखा में हुई 1.13 करोड़ रुपए की लूट मामले में संगरिया पुलिस थाने में लूट की सूचना देने वाला परिवादी बैंक का ऑपरेशन मैनेजर सुशील कुमार ही साजिशकर्ता निकला। सुशील कुमार ने अपने मामा के लड़के नीतेश कुमार पुत्र दलविन्द्र कुमार के साथ मिलकर बैंक लूट की योजना बनाई थी। इसके बाद योजना के तहत नीतेश कुमार ने अपने साथियों सतपाल व सुखविन्द्र कुमार के साथ मिलकर बैंक शाखा में 1.13 करोड़ की डकैती की थी। बैंक के ऑपरेशन मैनेजर सुशील कुमार ने ही लुटेरों को सूचना देकर बैंक शाखा में लूट करवाई थी। यह जानकारी बुधवार को जिला पुलिस अधीक्षक राशि डोगरा डूडी ने एसपी कार्यालय में बुधवार शाम को आयोजित प्रेस वार्ता में 1.13 करोड़ रुपए की लूट का खुलासा करते हुए दी। एसपी ने बताया कि इस मामले में एक्सिस बैंक शाखा के उप प्रबंधक (ऑपरेशन मैनेजर) सुशील कुमार (28) पुत्र महेन्द्र कुमार निवासी गणेश कॉलोनी, भूना फतेहाबाद हरियाणा, हाल सुरजीत कॉलोनी श्रीगंगानगर, नीतेश कुमार (24) पुत्र दलविन्द्र कुमार निवासी जनसुआ राजपुरा पटियाला, सतपाल (31) पुत्र चाजूराम निवासी जनसुआ राजपुरा पटियाला व सुखविन्द्र कुमार (35) पुत्र रामनाथ निवासी जटवार पंजोखा अम्बाला, हरियाणा को राउंडअप किया गया है। एसपी डूडी के अनुसार लूट की वारदात में अन्य लोगों के संलिप्त होने की भी संभावना है। इसके लिए राउंडअप किए गए युवकों से पूछताछ की जा रही है। एसपी ने बताया कि वारदात के बाद लिए गए बयानों में बैंक के ऑपरेशन मैनेजर ने जो बातें बताई उनमें से कुछ की पुष्टि नहीं हो रही थी। इस कारण ऑपरेशन मैनेजर सुशील कुमार पर शक की सुई घूम गई।

 वारदात का खुलासा करने में संगरिया थाना प्रभारी इन्द्र कुमार वर्मा, पुलिस निरीक्षक फूलचन्द शर्मा, डीएसटी प्रभारी राजाराम लेघा के नेतृत्व में पीलीबंगा, पुलिस लाइन, चूरू, बीकानेर, श्रीगंगानगर जिले के पुलिस जवानों के साथ हनुमानगढ़ व बीकानेर के साइबर सैल का विशेष सहयोग रहा। एसपी ने बताया कि वारदात के बाद लुटेरों की तलाश में हनुमानगढ़ के अलावा श्रीगंगानगर, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश व मध्यप्रदेश क्षेत्र में पुलिस टीमें भेजी गई। संबंधित क्षेत्रों के सीआईए स्टाफ व विशेष दलों से समन्वय स्थापित किया गया। घटनास्थल व आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज का अवलोकन कर सबूत जुटाए गए। मोबाइल टावरों के डम्प डाटा उठाकर सीडीआर का विश्लेषण किया गया। अथक प्रयासों के बाद इस वारदात का पर्दाफाश करने में सफलता हाथ लगी। उल्लेखनीय है कि 17 सितम्बर की देर शाम संगरिया शहर के हृदय स्थल नई धान मंडी स्थित एक्सिस बैंक शाखा में तीन नकाबपोश लुटेरे पिस्तौल व चाकू की नोक पर दो बैंक कर्मियों को बंधक बनाकर 1 करोड़ 13 लाख रुपए की नकदी लूटकर भाग गए थे। लुटेरे जाते समय बैंक अधिकारी की बाहर खड़ी कार भी अपने साथ ले गए थे। लूट के करीब आधे घंटे बाद किसी तरह बाहर निकले दोनों कर्मचारियों में से एक ने अपने रिश्तेदारों को फोन किया तो पुलिस को सूचना मिली। इसके बाद पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। हरियाणा, पंजाब की ओर जाने वाले हर रास्ते पर नाकाबंदी करवाकर जांच-पड़ताल शुरू की गई। बैंक में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाली गई।

घटना की सूचना मिलने पर रात्रि को एसपी राशि डोगरा डूडी सहित अन्य अधिकारियों ने भी बैंक शाखा पहुंच वारदात की जानकारी ली। जिस समय बैंक शाखा में लूट हुई उस समय कैशियर परमपाल निवासी अमरगढ़ व ऑपरेशन मैनेजर सुशील कुमार शाम करीब सवा सात बजे बैंक बंद कर घर जाने की तैयारी कर रहे थे। सिक्योरिटी गार्ड जा चुका था। शाखा प्रबंधक पंकज मित्तल छुट्टी पर थे। इतने में ही तीन नकाबपोश लोग भीतर आए। एक ने टोपी पहनी थी जबकि दो सरदार सरीखे थे। एक के हाथ में रिवॉल्वर तो अन्य के पास चाकू थे। उन्होंने आते ही टेलीफोन वायर काट दी। चाबियां व मोबाइल छीन लिए। बैंक में रखी पूरी नकदी देने को कहा। लुटेरे उन्हें भीतर की ओर धकेलते हुए लॉकर रुम में ले गए। वॉलेट चेस्टरुम को चाबी से खोल कर वहां रखी नकदी उन्होंने अपने साथ लाए दो पिटï्ठू टाइप बैग में डलवा ली।

दोनों बैंक कर्मियों की लोहे की सलाखों वाले दरवाजे के पीछे बंद कर चाबी मेज पर छोड़कर बाहर खड़ी कार लेकर भाग गए। काफी जद्दोजद के बाद करीब सवा आठ बजे दोनों बैंककर्मी बाहर निकले। इस सम्बन्ध में एक्सिस बैंक धानमंडी शाखा के उप प्रबंधक सुशील कुमार (28) पुत्र महेन्द्र कुमार निवासी सुरजीत कॉलोनी, गली नम्बर 11, श्रीगंगानगर ने 1 करोड़ 13 लाख रुपए की लूट के आरोप में अज्ञात लुटेरों के खिलाफ भादंसं की धारा 392, 34 के तहत मामला दर्ज कराया था। वारदात के बाद देर रात को पुलिस ने डबवाली के पास बैंक अधिकारी की वह कार लावारिस हालत में बरामद कर ली थी, जिसमें लुटेरे फरार हुए थे।