प्री डी.एल.एड. की फर्जी वेबसाइट बनाने वालों के विरूद्ध निदेश सौरभ स्वामी ने दिए एफ.आई.आर. दर्ज कराने के निर्देश

Bikaner news । डी.एल.एड. परीक्षा, 2020 के लिए फर्जी वेबसाइट बनाकर युवा आशार्थियों को बरगलाने और रूपये ऐंठने को लेकर एफ.आई.आर. दर्ज कराने के निर्देश जारी किये गये हैं। शिक्षा निदेशक, सौरभ स्वामी, (आई.ए.एस.) ने बताया कि कतिपय लोगों द्वारा प्री डी.एल.एड. परीक्षा, 2020 से सम्बन्धित फर्जी वैबसाइट एवं फेसबुकर पेज बनाने के बाद संज्ञान में आने पर तत्काल कडा कदम उठाकर जिला शिक्षा अधिकारी (विधि), प्रारम्भिक शिक्षा, जयपुर को पुलिस की साईबर सैल में एफ.आई.आर. दर्ज करवाकर वांछित कार्यवाही करवाने के निर्देश जारी किये।

शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने बताया की प्रथम दृष्टया तहकीकात करने पर पाया गया कि https://predeled.org के नाम से डोमेन रजिस्टर्ड करके कोई वेबसाइट बनायी गयी है। इसके टाईटल में Welcome to Rajasthan BSTC 2020 Official Website प्रदर्शित है जबकि इस वैबसाइट का नोडल एजेन्सी से दूर तक भी कोई सम्बन्ध नहीं है। डोमेन रजिस्टरकत्र्ता द्वारा आॅफीशियल शब्द का भी इस्तेमाल किया गया है।

शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने बताया कि फर्जी वेबसाइट बनाने वालों द्वारा ऐसा करके न केवल युवा आशार्थियों को गुमराह किया जा रहा है बल्कि प्री डी.एल.एड. परीक्षा के लिए अधिकृत शासकीय व्यवस्थाओं को धता बताकर अनाधिकृत रूप से प्री डी.एल.एड. की अधिकृत वेबसाइट का कटेन्ट चुराकर तथा तोड मरोड कर इस फर्जी वेबसाइट पर सूचनाएँ दर्शायी गयी हैं। इसमें नोडल एजेन्सी द्वारा निर्धारित कार्यक्रम सेे इतर फर्जी कलैण्डर प्रस्तुत किया गया है।

इतना ही नहीं टेस्ट सिरीज के नाम से राज्य के निर्दोष युवा आशार्थियों से धनराशि वसूलेने की बडी साजिश रची गयी है। शासकीय स्तर पर संचालित इस परीक्षा के लिए फर्जी फेसबुक आई.डी. से पेज भी बना डाला। इस प्रकार एक बडी साजिश एवं घोटाले की बू पूरे प्रकरण में आती है। सम्पूर्ण परिस्थितियां जांच का विषय हैं। उन्होंने बताया कि यह कृत्य विभाग की छवि को धूमिल करके युवा आशार्थियों से धनराशि वसूली का काला कारनामा प्रतीत होता है।

प्री डी.एल.एड. परीक्षा, 2020 के लिए दो अधिकृत वैबसाइट्स -https://predeled.in and https://predeled.com हैं। इनके अतिरिक्त कोई भी वैबसाइट और फेसबुक पेज यदि सामने आता है तो निश्चित तौर पर वह फर्जी, अनाधिकृत, धोखाधड़ीपूर्ण और कूट रचित है। ऐसी वेबसाइट और फेसबुक पेजेज का परीक्षा एजेन्सी (समन्वयक, प्री डी.एल.एड). के कार्यालय से कोई सम्बन्ध नहीं है।

विभागाध्यक्ष ने यह भी बताया कि समन्वयक द्वारा आशार्थियों/परीक्षार्थियों को आगाह करते हुए अधिकृत वैबसाइट पर भी नोटिस जारी किया गया है। शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी।ने आशार्थियों को सलाह दी है कि वे परीक्षा आवेदन से लेकर प्रवेश तक की समस्त प्रक्रिया की अद्यतन जानकारी के लिए अधिकृत वेबसाइट को ही नियमित रूप से विजिट करते रहें तथा अन्य फर्जी वेबसाइट पर ध्यान न दें।