बीकानेर गोलीकांड – मृतक व्यापारी की पत्नी को संविदा पर नौकरी और पांच लाख मुआवजे पर बनी सहमति उठाया शव

Bikaner News। शहर के पूगल रोड नया शहर में कल रात अगरबत्ती व्यापारी गिरीराज अग्रवाल की गोली मारकर की गई हत्या के मामले में आक्रोशित व्यापारियों ने शहर में बढ़ती आपराधिक घटनाओं और इस गोली कांड को लेकर धरना दे दिया और लाश न उठाने दी आखिर जद्दोजहद के बाद आज शाम को मृतक व्यापारी अग्रवाल की पत्नी को संविदा पर नौकरी तथा ₹500000 मुआवजा सहायता राशि पर कलेक्टर नमित महत्ता से सहमति बनने के बाद शव उठाया और धरना समाप्त किया ।

भाजपा नेता शिवरतन अग्रवाल ने बताया कि मृतक गिरीराज की पत्नी को संविदा पर नौकरी लगाने की बात, पांच लाख का मुआवजा प्रशासन द्वारा दिए जाने की बात तय हुई है। हालांकि कलेक्टर नमित मेहता ने इससे अधिक मुआवजे के लिए राज्य सरकार को लिखने का आश्वासन भी दिया है। एसपी प्रहलाद सिंह कृष्णियां ने तीन से पांच लाख का मुआवजा देने पर पहले ही सहमति दे दी थी। वहीं एसपी ने आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है। उसके बाद परिवार वालों ने गिरिराज अग्रवाल का शव पीबीएम अस्पताल प्रशासन से लेकर अंतिम संस्कार के लिए लेकर गए। इससे पहले कोटगेट पर लगाए गए धरने को भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सत्यप्रकाश आचार्य, जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह, मोहन सुराणा, शिवरतन अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता व लूणकरणसर विधायक सुमित गोदारा सहित आमजन व व्यापारी आदि शामिल रहे। विदित है कि बीती रात पूगल रोड़ पर अज्ञात लुटेरों ने गिरीराज की गोली मारकर हत्या कर दी थी व उसका बैग लूट ले गए थे।