शिक्षा विभाग–निदेशालय ने दी विधार्थियों को बडी राहत

Bhilwara News । कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर राजस्थान में पिछले 9 माह से बंद पड़े सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों के कारण पढ़ाई पर अच्छा खासा असर पड़ा है माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में तो 10वीं बोर्ड 12वीं बोर्ड के पाठ्यक्रम में 40 फ़ीसदी कमी कर दी है लेकिन आठवीं तक कक्षाओं के लिए अभी तक कोई निर्णय नहीं हुआ था और अर्धवार्षिक परीक्षाएं का समय तक आ गया।

इस साल शादी से चूक गए तो इतना करना पडेगा इंतजार,क्योकि जानें..

लेकिन पाठ्यक्रम निर्धारित नहीं हो पाया था लेकिन अब शिक्षा निदेशालय ने कक्षा 1 से लेकर आठवीं तक के पाठ्यक्रम को निर्धारित करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है संभावना है कि दिसंबर के पहले सप्ताह में आठवीं तक के पाठ्यक्रम को घटाकर 50 फ़ीसदी कर दिया जाएगा और उत्तरण प्रतिशत 33% से घटाकर 26 प्रतिशत तक किया जा सकता है इस पर अभी विचार-विमर्श चल रहा है । माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने इस प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया है।

शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने दैनिक रिर्पोटर डाॅट काम को बातचीत मे यह जानकारी देते हुए बताया की अभी
प्रदेश में अभी स्कूलों में पहली से 8वीं तक के बच्चों को एक वर्कबुक(कार्य बुक) दी जा रही है। इस बुक में बच्चे घर पर ही पढ़ाई करेंगे और यह बुक भरकर स्कूल में जमा करायेंगे। तथा इस बुक को स्कूल में शिक्षक चैक करेंगे और इसके बाद बच्चों की तय समय पर परीक्षा ली जायेगी। उन्होने कहा की सरकार के दिशा निर्देशो के तहत इस बार किसी भी कक्षा के विधार्थी को बिना परीक्षा प्रमोट नही किया जाएगा परीक्षाएं होगी ।

घटेगा पाठयक्रम

सौरभ स्वामी ने बताया की कक्षा 8, वीं तक का पाठ्यक्रम 50% करने की कवायद चल रही है। पढ़ाने के लिए हमने ई-कक्षा शुरू की है। इसी नाम से यूट्यूब चैनल पर बच्चे घर बैठे पढ़ाई कर सकते हैं।

न्यूनतम उत्तीर्णांक होंगे कम

स्वामी ने बताया की 8 वी तक के विधार्थियों को राहत देने के लिए न्यूनतम उत्तीर्णांक जो अभी 33% है उसे सीबीएसई की तर्ज पर 26% तक
किया जा सकता है और इस सबंधं पूरी कवायद करते हुए प्रस्ताव बनाकर तैयार कर सरकार को विचार व निर्णय के लिए भेज दिए है और इन पर विचार-विमर्श होना है ।

अर्धवार्षिक परीक्षाएं नहीं होगी

शिक्षा निदेशक फॉर स्वामी ने बताया कि इस साल अर्धवार्षिक परीक्षाएं कोरोना काल को देखते हुए नहीं ली जाएगी लेकिन वार्षिक परीक्षाएं होगी

शिक्षा निदेशक स्वामी का अनूठा प्रयास ला रंग

राजस्थान में घर बैठे बच्चों को पढ़ाने के लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी के प्रयासों से ई-कक्षा शुरू की गई। इसके तहत शिक्षकों से तैयार वीडियो यूट्यूब चैनल पर डाले जा रहे हैं। जहां हजारों की संख्या में बच्चे इसे देख रहे हैं