शुद्ध के लिये युद्ध अभियान बना महज खानापूर्ति, मिलावटखोर दुकान बंद कर भागे

जहाजपुर(आज़ाद नेब) राज्य सरकार के निर्देश पर जिला कलक्टर शिवप्रसाद एम नकाते के मार्गदर्शन में चल रहे ’’शुद्ध के लिये युद्ध’’ अभियान महज खानापूर्ति बनकर रह गया है।

मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को क्षेत्र मे शुद्ध के लिये युद्ध अभियान के तहत कार्रवाई करने पहुंचे अधिकारियों से पहले ही मिलावटखोरों को सुचना लग जाने से अपने प्रतिष्ठान बंद करके भाग छुटे। इसका मायनें तो यह हुआ कि अपने प्रतिष्ठान बंद कर भागे व्यापारी लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। अगर व्यापारी सही होते तो अपने प्रतिष्ठान बंद कर भागने की कहां आवश्यकता थी।

क्षेत्र में की गई कार्रवाई से कहीं ना कहीं व्यापारियों व अधिकारियों के बीच साठगांठ की बू आती है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में की गई कार्रवाई मात्र खानापूर्ति ही नजर आई लोगों के स्वास्थ्य के साथ हो रहे खिलवाड़ के प्रति अधिकारीयों को लेना देना नहीं है।

कार्यवाही के दौरान नायब तहसीलदार श्याम लाल, खाद्य सुरक्षा अधिकारी देवेन्द्र सिंह, सरस डेयरी प्रतिनिधि रामस्वरुप पालीवाल, दुर्गश डिडवानिया, पटवारी भंवर सिंह, इस्लाम मोहम्मद मौजूद थे।