आरबीएसके बदोलत जिंदगी की नई किरण नसीब हुई बालापुरा के सूरज को

जहाजपुर(आज़ाद नेब) आरबीएसके टीम द्वारा जीरा आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाँच के दोरान मासूम सूरज के दिल में छेद होने की बिमारी का पता चला।

ब्लॉक के टीम प्रभारी डॉ हरीश यादव ने बताया कि सूरज कीर पुत्र मस्तराम कीर निवासी बालापूरा के दिल में छेद होने की गम्भीर बीमारी थी, जब हमने जीरा आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया तब जाँच के दोरान मुझे उसकी बीमारी का पता चला। घरवालों को बीमारी के बारे में बताया तो घरवालो ने कहा कि उनको इस बीमारी के बारे में पता है उन्होंने पहले निजी चिकित्सालय में दिखाया था लेकिन वहां पर उनसे ऑपरेशन के पांच लाख रुपये मांगे। आर्थिक स्थिति कमजोर होने की वजह से वो बच्चे का ईलाज नहीं करवा पाये। उसके बाद बच्चे को आरबीएसके के तहत सत्य साईं अस्पताल अहमदाबाद भेजा गया जहां बच्चे का निशुल्क ऑपरेशन हुआ, ऑपरेशन के बाद बच्चा बिल्कुल स्वस्थ है।

बच्चे के घरवालो ने डॉ हरीश यादव और उनकी टीम के फार्मासिस्ट दीपेश मीना, एएनम हेमलता लोहार और भीलवाड़ा आरसीएचओ डॉ सीपी गोस्वामी तथा डीईआइसी प्रबंधक सुनील शर्मा का धन्यवाद किया जिनकी वज़ह से उनके बच्चे को नई जिंदगी मिली।