महिला शिक्षिकाओं को बनाया चौकीदार सडक पर बैठ दे रही ड्यूटी, यह कैसा आदेश

Bhilwara News । राजस्थान सरकार द्वारा एक तरफ तो महिलाओं के सम्मान की बात की जाती है और दूसरी तरफ महिला शिक्षकों को सड़क पर बैठकर नौकरी कराई जा रही है शिक्षिकाओं को शिक्षक शिक्षक से चौकीदार बना दिया गया है यह नजारा भीलवाड़ा शहर में देखा जा सकता है एक महिला अधिकारी ने महिला होने के उपरांत भी महिलाओं की ड्यूटी आ चौकीदारी के रूप में लगा कर उनको सड़कों पर बैठने के लिए मजबूर कर दिया है ।

भीलवाड़ा शहर में कोरोनावायरस संक्रमण कहर को देखते हुए पॉजिटिव आने वाले रोगियों कि घरों के बाहर चौकीदारी के रूप में भीलवाड़ा शहर के अलग-अलग हिस्सों में महिला शिक्षिकाओं को चौकीदार के रूप में उनके घरों के बाहर बिठा दिया गया है यह फरमान सोना ब्लॉक की सीबीईओ साबिया बानो द्वारा निकाला गया है ।

हमने जाकर जब जांच पड़ताल की तो पाया कि पॉजिटिव आने वाले रोगियों की घरों के बाहर सवेरे 7:00 बजे से लेकर दोपहर 2:00 बजे तक महिला शिक्षिकाएं उनके घरों के बाहर सड़क पर या चबूतरे पर बैठकर ड्यूटी दे रही है स्थिति यह है कि एक महिला होने के नाते उसे आवश्यक सेवाओं के लिए भी भटकना पड़ता है आसपास के लोग उनको भी घरों में कोरोना के भय के कारण घुसने नहीं देते और जो पॉजिटिव है उनके घरों के अंदर भी जाना मुनासिब नहीं है ।

कई महिला शिक्षिकाएं तो अपने मासूम बच्चों के साथ इस इस कोरोना संक्रमण काल में अपने बच्चों का जीवन खतरे में डालकर उन्हें साथ में लेकर पॉजिटिव रोगियों के बाहर चबूतरे बैठकर चौकीदारी कर रही है कुछ महिला शिक्षिकाओं ने तो अपने रसूख आंतों के आधार पर अपनी ड्यूटी आ निरस्त करवा ली लेकिन जिनके पास रसों का और सिफारिशें नहीं थी वह अधिकांश महिला शिक्षिका हैं शिक्षिका होने के बाद भी चौकीदारी की भूमिका निभा रही है उनकी कोई सुनने वाला नहीं है ।

विदित है कि इससे पूर्व भी एक बार महिला शिक्षिकाओं की ड्यूटी लगाई गई थी जबकि सरकार द्वारा और माध्यमिक शिक्षा निदेशक के स्पष्ट आदेश है कि महिला शिक्षिकाओं को कोविड-19 में पॉजिटिव आने वाले होम क्वॉरेंटाइन लोगों के बाहर ड्यूटी या नहीं लगवाई जाए उनके स्थान पर उस शिक्षक अन्य में अन्य पुरुष कार्मिकों को ड्यूटी पर लगाया जाए लेकिन इस आदेश के बाद भी सीडीईओ सादिया बानू द्वारा इन महिला शिक्षिकाओं की ड्यूटिया होम क्वारंटाइन पर लगाकर चौकीदार बना दिया है

इनकी जुबानी

मैने सीडीईओ भीलवाड़ा के आदेश से यह ड्यूटियां लगाई है और महिलाओं की ड्यूटी नही लगे इसके लिए मैने सीडीईओ से निवेदन भी किया है । अगर ऐसा है तो मै दिखवाती हूं जहां जहां महिला शिक्षिकाएं ड्यूटी टर लगक है वहा पुरूष शिक्षकों को लगाऐंगे

साबिया बानो
सीबीईओ
सुवाणा ब्लाॅक, भीलवाड़ा