गहलोत व मोदी के दावो की पोल खोलती भीलवाड़ा मे यह तस्वीरें व रिर्पोट

Bhilwara news । केंद्र की मोदी सरकार को राजस्थान की गहलोत सरकार के यह दावे कि हमने ढाणी और गांव को सड़कों से जोड़ दिया है लेकिन सिर्फ यह दावे दावे होकर कागजों तक ही सिमट गए हैं जबकी धरातल पर हकीकत कुछ और है और इसकी बानगी भीलवाड़ा जिले के कोटडी पंचायत समिति की जीवा का खेड़ा पंचायत के गांव चांदगढ़ की तस्वीरें हकीकत बयां कर रही है आमजन घर और दूसरे गांव जाए तो कैसे सड़कों की बदहाली सरकार के दावों की खोलती है पोल।

गहलोत व मोदी के दावो की पोल खोलती भीलवाड़ा मे यह तस्वीरें व रिर्पोट 1

भीलवाड़ा जिले के कोटडी उपखंड और कोटडी पंचायत समिति की ग्राम पंचायत जीवा का खेड़ा के चांदगढ़ गांव की सड़कें केवल सड़क के नाम की है इस मार्ग से गुजर कर ही बड़लियास जाया जा सकता है या यूं कहें तो बड़लियास जाने के लिए मात्र एक यही सड़क है लेकिन पिछले 15 सालों से एक सड़क की ऐसी स्थिति और बदहाली है कि वाहन गुजरना तो दूर पैदल चलना भी दूभर है बड़लियस गांव विधानसभा क्षेत्र मांडलगढ़ में पड़ता है ।

जहां से राजस्थान के दो बार मुख्यमंत्री तक रह चुके हैं शिव चरण माथुर विधानसभा के उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह भी बड़लियास से ही विलोम करते हैं लेकिन आश्चर्य की बात है कि एक हजार की आबादी वाले इस गांव में पिछले 15 सालों से सड़क का नामोनिशान तक नहीं है जबकि कागजों में इसे सड़क बताया जाता है ।

हम यहां जो तस्वीरें आपको बता रहे हैं इससे आप स्वयं अंदाजा लगा सकते हैं कि बड़लियास जाने के लिए चांदगढ़ गांव की यह सड़कें सड़के हैं या सिर्फ पानी के गड्ढे ऐसे में कैसे इसे पार किया जाए आसानी से सोचा जा सकता है आश्चर्य की बात है इस और ने तो राजनेताओं का ध्यान है और न ही प्रशासनिक और सरकारी अधिकारियों का और परेशान है बेचारे ग्रामीण जन