सरंपच के एक हाथ और एक पैर तोडने को सुपारी 80 हजार, 5 गिरफ्तार

Bhilwara News । जिले के पारोली थाना क्षेत्र के आसोप ग्राम पंचायत सरपंच जीवनलाल शर्मा पुर हुए जानलेवा हमला व लूट की वारदात का खुलासा करते हुए पुलिस ने 5 जनों को गिरफ्तार किया गया है । पुलिस अब इन हमलावरो को सुपारी देने तथा सहयोग करने वालो की भी गिरफ्तारी की करेगी ।

पुलिस उपाधीक्षक कोटडी कीर्ति सिंह ने बताया कि सरपंच पर हमले के बाद सम्भावित स्थानों पर दबिश दी गई । गठित टीमों द्वारा अज्ञात बदमाशों के भागने वाले मार्ग को चिन्हित किया जाकर सीसीटीवी फुटेज देखे गये एवं सरपंच की रेकी करने वाले लोगो के सबंध में जानकारी एकत्र कर ग्राम पंचायत आसोप में आपसी रंजिश व पंचायत मे कराये जा रहे कार्यों तथा पंचायत की बेशकिमती भूमि पर अतिक्रमण हटाये जाने की कार्यवाही से नाराज होकर गांव के ही कुछ व्यक्तियों ने मिलकर आपसी साजिश रच कर पैसे देकर भीलवाडा व पास के ही थाना बनेडा इलाके के गांव बबराणा से अपराधियों को बुलाकर सरपंच पर जानलेवा हमला व लूटपाट की योजना तैयार की गई ।

डिप्टी सिह ने बताया की इस छानबिन के बाद हमलावर प्रहलाद खारोल( टीम मुखिया),शशि गवारिया पुत्र इंद्रसिंह निवासी भीलवाडा , पवन मराठा निवासी भीलवाडा , शरीफ पिता शब्बीर मोहम्मद निवासी बबराणा और तारासिंह को गिरफ्तार कर लिया है । डिप्टी सिह ने बताया की प्रारंभिक पूछताछ में इन आरोपियो ने घटनाक्रम व कहानी बताई जो इस प्रकार है ।

घटनाक्रम व योजना

सीताराम रेगर , घनश्याम गुर्जर व कैलाश ऊर्फ बाबू तेली व आसोप निवासी एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर आसोप सरपंच जीवण लाल शर्मा पर हमला करवाने के लिए बबराणा निवासी प्रहलाद खारोल से सम्पर्क किया तथा प्रहलाद खारोल ने 80000 रूपये मे सरपंच पर हमला कर दाहिना हाथ तथा बायां पैर तोडने का काम तय किया । जिससे सरपंच कम से कम 6 महिने तक पंचायत का काम नही कर सके । इसके लिए सीताराम रेगर ने बाबू तेली द्वारा हमले के लिये दी गई राशि 20000 रूपये मे से 10000 रूपये पेशगी के तौर पर आसोप निवासी अन्य व्यक्ति से प्राप्त कर प्रहलाद खारोल को दिए तथा शेष राशि काम होने पर देना तय हुआ । प्रहलाद खारोल ने इस काम के लिये अपनी टीम को तैयार किया जिसमे उक्त 5 जनो को शामिल किया गया ।

ऐसी दिया हमला की घटना को अंजाम

29 जुलाई को सायंकाल सभी हमलावर आसोप पहुचे तथा घनश्याम गुर्जर के खेत पर रूके व अगले दिन सुबह हमला करने की योजना बनाई । सीताराम रेगर व घनश्याम गुर्जर सरपंच की रेकी करने 30 जुलाई को सुबह बोरडा बस स्टेण्ड पर बैठ गये और नजर रखने लगे । वहाँ पर सरपंच जीवण लाल शर्मा बोरडा बस स्टेण्ड पर पहुचा व चाय पी और कुछ देर रूककर वापस कोटडी के लिये रवाना हुआ तो इसकी सूचना अपने साथियों को दी । सरपंच जीवण लाल शर्मा बोरडा से आगे निकलकर रूप पूरा चौराहे गए जहाँ उनपर हमला।किया गया

हमलावरो करवाने वाले कौन-कौन व किस-किस ने कैसे दिया सहयोग

1– सीताराम रेगर निवासी आसोप

-सीताराम द्वारा हमलावरो के ग्रुप को पैसे देकर सरपंच पर हमला करवाने की योजना आसोप के ही एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर तैयार की गई योजनानुसार हमले से पूर्व योजना में शामिल सभी व्यक्तियो को एक साथ बैठाकर योजना के बारे में बताया गया , हमलावारों को एडवांस में पैमेंट भी

2– घनश्याम निवासी बोरडा थाना पारोली ने उक्त वारदात के हमलावरो को वारदात से पुर्व एवं पश्चात सहयोग एवं शरण हेतु अपने खेत पर रूकवाया गया तथा पीडित सरपंच की पल पल की रैकी कर लोकेशन हमलावरो को मोबाईल से दी

3 – कैलाश ऊर्फ बाबू तेली निवासी आसोप थाना पारोली – वारदात में हमलावरो को वारदात से पूर्व पैमेंट करने हेतु 20 हजार रूपये की व्यवस्था की गई , कैलाश द्वारा उक्त 20 हजार रूपये आसोप के एक अन्य व्यक्ति के माध्यम से हमलावरो तक पहुचाये

4- मनीष प्रजापत निवासी बबराणा थाना बनेडा – उक्त वारदात में हमलावरो की टीम को रहने एवं वारदाम के पश्चात शरण देने का काम किया गया ।

5- शरीफ मोहम्मद निवासी बबराणा थाना बनेडा- हमलावरो की टीम का एक सदस्य जिसके द्वारा पीडित सरपंच पर जानलेवा हमला करने में प्रमुख योगदान रहा है जिसे बापर्दा गिरफतार किया ।