गुर्जर आंदोलन – मंत्री चांदना और बैसला के साथ वार्ता विफल, बैसला के खिलाफ मुकदमा दर्ज ,सरकार अपना आएगी कड़ा रुख

Bharatpur News /राजेंद्र शर्मा जती। आरक्षण की मांग को लेकर कर्नल बैंसला के नेतृत्व में चल चल रहे आंदोलन के तहत आज सरकार की ओर से मंत्री अशोक चांदना और आंदोलनकारी नेता बैंसला के बीच आंदोलन स्थल पर हुई वार्ता विफल रही इस वार्ता के विफल होने के साथी संभावनाएं जताई जा रही है कि गहलोत सरकार अगले 2 दिनों के अंदर कड़ा रुख अपना सकती है वहीं दूसरी ओर आज पुलिस ने कर्नल बैंसला के पुत्र सहित कुछ आंदोलनकारियों के खिलाफ रास्ता जाम करने का मामला भी दर्ज किया है उधर दूसरी ओर गुर्जर समाज के एक अन्य गुट ने बैसला के इस आंदोलन को गलत करार दिया है ।

पीलूपुरा में बैकलॉग की भर्तियों समेत 6 मांगों को लेकर जारी गुर्जर आंदोलन के संबंध में राज्य सरकार के मंत्री अशोक चांदना ने कहा है कि सरकार जो दे सकती है वो सब बता दिया है, जो आश्वासन संभव थे वो भी बता दिए हैं आगे फैसला उन लोगों को करना है कि आंदोलन जारी रखना है या बंद करना है। कई दिन के गतिरोध के बाद सोमवार को गुर्जर नेता कर्नल बैंसला और गुर्जर समुदाय के लोगों से बातचीत करने के लिए पीलूपुरा से 8 किलोमीटर दूर सुरोठ पहुंचे मंत्री अशोक चांदना ने कर्नल बैंसला और पंच पटेलों की मौजूदगी में हुई करीब ढाई घंटे की वार्ता के बाद ये बात कही। दूसरी ओर राज्य सरकार के सम्पर्क बाले गुर्जर समाज के साहब सिंह ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बैंसला पर समाज को भ्रमित करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि जब समाज के दूसरे गुट के प्रतिनिधिमंडल ने 14 बिन्दुओं पर सरकार से वार्ता कर ली है तो फिर आंदोलन करने का क्या औचित्य है।गौरतलब है कि गुर्जर आंदोलन के कारण त्योहारी सीजन में आमजन ब यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है। दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पर 19 ट्रेनों को डायवर्ट कर चलाया जा रहा है। यही नहीं अन्य रुटों पर भी कई ट्रेनों को डायवर्ट कर निकाला जा रहा है। ज्यादातर ट्रेनों को जयपुर के रास्ते निकाला जा रहा है। ट्रेनें बंद होने के कारण स्थानीय रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा देखने को मिल रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से आरपीएफ के जवान तैनात किए गए हैं। सोमवार को सरकार के मंत्री अशोक चाँदना के साथ गुर्जर आंदोलनकारियों की बातचीत का कोई नतीजा नही निकलने से ये कयास लगाए जा रहे है कि रेलबे ट्रेक को खाली कराने के लिए अगले एक दो दिन में गुर्जर आंदोलनकारियों के खिलाफ सरकार कोई निरोधात्मक कार्यवाही अमल में ला सकती है जिसका आंदोलनकारियों को भी आभास है।

बैसला और आन्दोलनकारियो के खिलाफ मामला दर्ज

गुर्जर आन्दाेलनकारियाे के खिलाफ एफआईआर, विजयबैसला सहित सैकडाे के खिलाफ मामला बयाना पुलिस कोतवाली में दर्ज, रास्ता राेकने व राजकीय सम्पत्ति काे नुकसान पहुचाने का मामला दर्ज