भरतपुर के धौरमुई ऑयल डिपो में आतंकवादियों के आने और आग लगाने से पुलिस प्रशासन में हड़कंप

पुलिस प्रशासन वहां पंहुचे तो मालूम चला मॉकड्रिल है फिर आई सांस

Bharatpur News/ राजेन्द्र शर्मा जती। सोमवार को धौरमुई ऑयल डिपो में आतंकवादियों के घुसने व
आतंकवादियों द्वारा आगजनी करने एवं कई लोगों के घायल होने की सुचना पर पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया। सूचना मिलने पर अधिकारियों में भगदड़ मच गई पुलिस और जिला प्रशासन की गाडियों का काफिला आॅयल डिपो की ओर दौड पडा जब वहां पंहुचे तो पता चला कि वह मोकड्रिल था।

धौरमुई आॅयल डिपो में आतंकवादियों के आने व आग लगाने व कई लोगों के घायल होने की सूचना पर भगदड की स्थिति बन गयी। सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक डाॅ अमनदीप कपूर, जिला कलक्टर नथमल डिडेल, अतिरिक्त कलक्टर शहर डाॅ राजेश गोयल, एसडीएम दामोदर सिंह, सीओ सिटी सतीश वर्मा, उधोग नगर एसएचओ सीपी चैधरी सहित भारी पुलिस दल आॅयल डिपो पंहुचा जहां हालात की जानकारी ली।
बाद में बताया गया कि ये अधिकारियों और पुलिस विभाग व अन्य संबधित विभागों की सक्रियता की एक्टिविटी एवं कर्तव्यनिर्वहन की परख करने के लिए मौकड्रिल किया गया था। जिसमे माना गया कि पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी
समय पर सर्तक व सचेत हो मौके पर पंहुचे।

इसके अलावा हाइवे पर सारस चैराहां सहित अन्य मुख्य जगहों पर बेरिकेटिंग लगाकर आने जाने वाले वाहनों की भी जांच में पुलिस जुट गई और कई जगहों पर ए श्रेणी की नाकाबंदी व चैकिंग भी की गयी। सारस चैराहां पर उपनिरीक्षक अबिजीत कुमार सहित पुलिस की टीम ने आने जाने वाले वाहनों की जांच पडताल भी की।

जिसकी कहीं कोई संदिग्ध सामान या संदिग्ध व्यक्ति तो नहीं है
जिन्हें कुछ मिला नहीं। अधिकारियों ने भी आयल डिपो पहुंचकर हालातों की जानकारी ली जहाँ पता चला कि आतंकवादियों के घुसने की सुचना मात्र मॉकड्रिल थी। मॉक ड्रिल का पता चलने पर अधिकारियों ने राहत की सांस ली।