भरतपुर में लॉक डाउन में ढाबा खुलने पर पुलिस ने संचालक सहित तीनों जनों को कपडे उतरवाकर लाॅकअप में बंद किया

Bharatpur news / राजेन्द्र शर्मा जती । कोरोना संक्रमण की गाइडलाइनों पर लापरवाही भरतपुर के लोगों पर भारी पडी है एक बारगी फिर से लाॅकडाउन लग गया है जिसके चलते बाजारों में सन्नाटा
पसरा दिखाई दिया। लाॅकडाउन के चलते चोबुर्जा बाजार एक ढाबा की दुकान खुली
मिलने पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने दुकान संचालक व दो सहयोगियों
को कोतवाली पुलिस के साथ कोतवाली भेज दिया गया। कोतवाली थाना पुलिस ने इन
तीनों को कपडे उतरवाकर लाॅकअप में बंद कर दिया।

कोतवाली पुलिस की इस कार्यवाही की निंदा हो रही है सूचना मिलने पर पार्षद एवं व्यापार संघ केसंघटन मंत्री भूपेन्द्र चंदा पंण्डा व अन्य लोग कोतवाली थाना पहुंचे जंहा
उन्हें लाॅकअप में अध्र्नग्न अवस्था में देखकर थाना कोतवाली के इंचार्ज
को कहा कि इन्हें जुर्माना लेकर छोडा जा सकता है। ये कोई हार्डकोर अपराधी
नहीं है। जिन्हें लाॅकअप मे रखा गया है। जिसका वीडियों भी सोशल मीडिया पर
वायरल हो रहा है।


इस मामले की शिकायत पार्षद चंदा पंण्डा ने स्वास्थ्य राज्य मंत्री डाॅ
सुभाष गर्ग व प्रशासन के अधिकारियों को की। मंत्री सुभाष गर्ग की पहल पर
इस घटना के बारे में भी उन्हें विश्वास नहीं हुआ कि व्यापारी के साथ
पुलिस प्रशासन ऐसा रवैया अपना सकता है। लेकिन जब लाॅकअप में बंद इन लोगों
का वीडियों वायरल सोशल मीडिया पर होने लगा।

तब जाकर मंत्री व अधिकारियोंको जानकारी मिली। मंत्री सुभाष गर्ग ने इस दुकानदार को जुर्माना राशि लेकर छोडने के निर्देश दिये। उसके बाद पुलिस ने जुर्माना राशि वसूली तब
दो घंटे के बाद छोडा गया।  इस मामले की जानकारी व्यापार संघ के पदाधिकारियों सामाजिक संगठनों को पता चला तो उन्होने भी कोतवाली पुलिस द्वारा लाॅकअपन में बंद करने कार्यवाही को शर्मनाक बताते हुऐ निंदा की है।

जिला व्यापार महासंघ के अध्यक्ष संजीव गुप्ता, भाजपा के पूर्व जिला
अध्यक्ष गिरधारी तिवारी, नगर निगम मंेे प्रतिपक्ष के पूर्व नेता
प्रतिपक्ष इन्द्रजीत भारद्वाज, व्यापार महासंघ के महामंत्री नरेन्द्र
गोयल ने ढाबा संचालक व दो अन्य को कोतवाली थाना पुलिस के द्वारा कपडे
उतरवाकर लाॅकअप में बन्द करने की घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा है कि
पहले व्यापारी का चेतावनी देते हुऐ जुर्माना लेना चाहिये था नहीं देने पर
या जुर्माने के लिए राशि का इंतजाम करने के लिए दुकानदार को समय देते हुऐ।


थाना परिसर में बैठा कर कार्यवाही कर सकते थे ऐसा व्यवहार किया है जैसे
यह व्यापारी कोई हार्डकोर अपराधी हो हम इस मामले से पुलिस और प्रशासन के
अधिकारियों से जांच कराने की मांग करते है।


कोरोना संक्रमण के बढते मामलों को देखकर इसकी रोकथाम के लिए पहल करते हऐ
जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने शनिवार एवं रविवार को लाॅकडाउन जिले में किये
जाने व  अन्य दिनों मे ंबाजार का समय सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक किये
जाने के आदेश जारी किये है। आज शनिवार को जिले में लाॅकडाउन रहा जिसकी
पालना में अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर डा. राजेश गोयल एवं सीओ सिटी सतीश
वर्मा ने थाना मथुरा गेट, थाना कोतवाली, थाना अटलबन्द, थाना अधिकारियों
के साथ लाॅकडाउन के हालातों का जायजा लिया।

भरतपुर में मई माह के अन्त से कोरोना मरीजों के बढने का शुरू हुआ सिलसिला अभी तक लगातार जारी है। शायद ही ऐसा कोई दिन गया हो जिस दिन कोरोना के संक्रमित मरीज नहीं मिले हों।


कोरोना के मरीजों का आंकडा बढते बढते 2844 पर पंहुच चुका है। कोरोना
संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी सरकार की गाइडलाइनों का काफी संख्या में
लोग पालन नहीं कर रहै है। जिसके चलते मजबूरन जिला कलक्टर को लाॅकडाउन का
फैसला लेना पडा। जिला कलक्टर नथमल डिडेल के द्वारा सम्पूर्ण जिले में
शनिवार एवं रविवार का लाॅकडाउन कर

जिला कलक्टर नथमल डिडेल के द्वारा सम्पूर्ण जिले में
शनिवार एवं रविवार का लाॅकडाउन आगामी आदेशों तक लगाया गया है। वहीं
सप्ताह के अन्य दिनों के लिए भी बाजार के समय में परिवर्तन किया गया है।
बाजार का समय सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक के लिए किया गया है। शनिवार को
लाॅकडाउन के चलते पूरे बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। अतिरिक्त जिला कलक्टर
शहर डा. राजेश गोयल, सिओ सिटी सतीश वर्मा ने मथुरा गेट थाना अधिकारी
राजेन्द्र शर्मा, कोतवाली थाना अधिकारी कैलाश मीणा के साथ बाजार का
निरीक्षण कर लाॅकडाउन के हालातों को देखा। लाॅकडाउन में कोतवाली पुलिस ने
चैबुर्जा के पास एक ढाबा खोलकर बैठे दुकानदार एवं उसके दो स्टाफ को थाना
कोतवाली ले जाकर उनके कपडे उतरवा कर उन्है लाॅकअप में बन्द कर दिया।
जिसकी लोगांे के द्वारा आलोचना की जा रही है।
पार्षद चन्दा पण्डा सहित अन्य लोग कोतवाली पंहुचे। जिस पर उन्होने कहा कि
यह पुलिस का व्यापारियों के साथ कौनसा न्याय है। दुकानदार को कपडे उतरवा
कर लाॅकअप मंे नहीं बिठाना चाहिए था। जबकि चोबुर्जा बाजार का ऐरिया थाना
मथुरा गेट में आता है लेकिन इस दुकानदार को थाना कोतवाली क्यों भेजा गया।
वहीं इस बारे में कहा कि सोमवार को आईजी संजीव नार्जरी, संभागीय आयुक्त
पी.सी. बेरवाल, जिला कलक्टर नथमल डिडेल, पुलिस अधीक्षक डा. अमनदीप कपूर
से इस घटनाक्रम को लेकर शिकायत करेंगे। पार्षद चन्दा पण्डा ने स्वास्थ्य
एवं चिकित्सा राज्य मंत्री डा. सुभाष गर्ग को इस घटना के बारे में अवगत
कराया। उन्होंने बताया कि राज्य के एक प्रमुख दैनिक समाचार पत्र में
लाॅकडाउन के संबध में समाचार छपा था कि इस लाॅकडाउन में होटल वाले पैकड खाना ही बेच सकेगें। जिसके तहत होटल वालों
ने अपनी होटल खोलने का मन बनाया था।