तांत्रिक की हरक़त से आपकी  रूह कांप जाएगी ,आश्रम से तांत्रिक को गिरफ्तार कर पुलिस तांत्रिक से पूछताछ कर जुटी जांच में

आरोपी तांत्रिक पुलिस गिरफ्त में

Bharatpur news / राजेंद्र्र शर्मा जती। भरतपुर जिले के कुम्हेर थाना इलाके में अंधविश्वास की एक ऐसी तस्वीर निकलकर सामने आई है जिसे देखकर और सुनकर इंसानियत की रूह कांप जाएगी।हम बात कर रहे हैं कुम्हेर उपखंड के गांव अस्तावन की, जहां पर पुत्र प्राप्ति की चाह व ससुराल के लोगों की जिद के चलते एक 28 वर्षीय विवाहिता अंधविश्वास की बलि चढ़ गई। विवाहिता का गुनाह सिर्फ इतना था कि वह बेटे को जन्म नहीं दे पाई।

विवाहिता को तीन पुत्रियां होने के बाद पुत्र प्राप्ति के लिए उसका पति सेवर के गांव रामनगर स्थित एक तांत्रिक के पास पत्नी को लेकर पहुंचा । जहां तांत्रिक ने विवाहिता को इलाज के नाम पर गर्म कीलों व सरियों से शरीर को जगह-जगह से दाग दिया।

तांत्रिक की क्रूरता की इस हद को विवाहिता सहन न कर सकी, और आखिर में चीखती, चिल्लाती, दर्द से कराहती हुई विवाहिता की दर्दनाक मौत हो गई। भरतपुर के गांव तुहिया निवासी मृतका पूनम की शादी अस्तावन निवासी प्रवेश नाम के युवक के साथ वर्ष 2008 में हुई थी।

पूनम ने तीन बेटियों को जन्म दिया, लेकिन उसके ससुराल वालों की चाह थी कि उसको एक बेटा होना चाहिए। लेकिन पूनम के ससुराल वालों की इच्छा उसके लिए मौत बन जाएगी उसको पता नहीं था । प्रवेश अपनी पत्नी पूनम को लेकर सेवर के पास स्थित गांव रामनगर में एक तांत्रिक के पास पहुँचा और इलाज कराने के लिए पत्नी पूनम को वहीं छोड़कर घर बापस आ गया।

10 दिनों तक विवाहिता को अपने हाल पर तांत्रिक के पास छोड़ दिया गया जहाँ तांत्रिक ने क्रूरता की सारी हदें पार कर पूनम को यातनाएं दी जिससे वह ससुरालीजनों के लिए पुत्र प्राप्ति की चाह में अपनी जिंदगी की जंग हार गई। पूनम की मौत हो जाने के बाद ससुरालीजन मृतका का अंतिम संस्कार करने की तैयारी कर रहे थे जिसकी भनक मृतका के तुहिया निवासी पीहर पक्ष को लग गई।

पीहर पक्ष की सूचना पर थाना पुलिस ने अस्तावन गांव पहुँचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सेवर के रामनगर स्थित आश्रम से तांत्रिक को गिरफ्तार कर थाना कुम्हेर लेकर आई । पुलिस मामले को लेकर तांत्रिक से गहन पूछताछ कर रही है।