भरतपुर में शुद्धता की जांच अभियान में स्वास्थ्य विभाग ने 4 हज़ार मिठाई विक्रेताओं में से 16 जगह सैंपल लेकर औपचारिकता पूरी की

Bharatpur news /राजेन्द्र शर्मा जती । भरतपुर में त्यौहार के अवसर पर सरकार के निर्देश पर शुद्धता की जांच के लिए चलाए गए अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने पूरे जिले के लगभग 4 हजार मिठाई विक्रेताओं में से  मात्र 16 जगह सैम्पलिंग की कार्यवाही कर जांच की औपचारिकताएं पूरी की।

त्यौहार के चलते मिठाईयों की मांग कई गुणा बढ जाती है। इस बढती मांग का फायदा उठाने के लिए कुछ लोग मिलावट कर मुनाफा कमाने में जुट जाते है। ऐसे
में मिलावट करने वालों पर कार्यवाही के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा अभियान चला कर खाद्य पदार्थों के सैम्पलिंग लेकर कार्यवाही की जाती है।

लेकिन इस बार स्वास्थ्य विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के द्वारा नाम मात्र की कार्यवाही कर पांच दिवसीय अभियान को पूरा कर दिया। त्यौहार के
चलते शहर के लगभग हर हिस्से में मिठाई विक्रेताओं के द्वारा लोगों की बढती डिमाण्ड को पूरा करने के लिए भारी मात्रा में मिठाईयां तैयार की थी।

लेकिन स्वास्थ्य विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को शहर के मुख्य बाजार के मिष्ठान विक्रेताओं के सैम्पल लेने की फुरसत ही नहीं मिली। ऐसा अनुमान है कि जिले मे करीबं 4 हजार से अधिक मिस्ठान विक्रेताओं की दुकाने
है वहीं शहर में 500 के लगभग दुकाने है। त्यौहार के अवसर पर बाजार में मिठाईयों की मांग कई गुणा बढ जाती है। इसी बढती मांग का कुछ लोग फायदा उठा कर मिलावटी मिठाईयां बेचने का प्रयास करते है। जिन पर कार्यवाही के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा समय समय पर जांच अभियान चलाया जाता है।

रक्षाबन्धन त्यौहार पर भी बाजार में मिठाईयों की डिमाण्ड कई गुणा बढ गई। ऐसे में खाद्य पदार्थाें की शुद्धता की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 5 दिवसीय अभियान चला कर खाद्य पदार्थों के सैम्पल लिए गए लेकिन पूरे जिले में मात्र 16 दुकानों पर सैम्पलिंग की कार्यवाही हुई।