घूसखोर सीओ शफात खान और कॉन्स्टेबल को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

दोनों आरोपियों को अलवर एसीबी की कोर्ट में पेश किया

Alwar News। अलवर ग्रामीण सीईओ शफात खान और ड्राइवर रिश्वत मामले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने  गुरुवार को दोनों आरोपियों को अलवर एसीबी की कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें कोर्ट के आदेश पर 14 दिन की  न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

एसीबी के पुलिस उपाधीक्षक चित्रगुप्त महावर ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर दोनों आरोपियों को जेल भेजा जाएगा।

21 जनवरी को वापस कोर्ट में आरोपियों को पेश किया जाएगा। अरावली विहार थानाधिकारी जहीर अब्बास की मामले  में भूमिका पर अधिकारियों ने बताया कि अनुसंधान चल रहा है उनसे लगातार अभी पूछताछ जारी है।

लेनदेन का नही कोई मामला

एसीबी द्वारा सपात खान को रंगे हाथ गिरफ्तार करने के बाद से सोशल मीडिया पर उनके समर्थकों द्वारा परिवादी  और सीओ के बीच लेनदेन का मामला बताकर गलत फसाने की बात कही जा रही थी।

जब मीडिया ने एसीबी

अधिकारियों से यह सवाल पूछा तो उन्होंने सीधे तौर पर कहा कि अनुसंधान में कोई लेन-देन की बात नहीं आई।  अभी तक के अनुसंधान में रिश्वत का मामला ही है।

यह था मामला

 

एसीबी जयपुर की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन विंग ने बुधवार सुबह पुलिस उपाधीक्षक ग्रामीण सपात खान को उनके  हाउसिंग बोर्ड स्थित मकान से 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। शफात खान ने यह रिश्वत  ड्राइवर के पद पर तैनात कांस्टेबल असलम खान के मार्फत ली थी। एसीबी ने कांस्टेबल असलम खान को भी
गिरफ्तार कर लिया। मामले में अरावली विहार थाना अधिकारी जहीर अब्बास का नाम भी सामने आ रहा है।

जिनसे  से भी अधिकारी लगातार पूछताछ कर रहे है। यह रिश्वत एक व्यक्ति व उसके परिवार के खिलाफ अलवर के विभिन्न  थानों में दर्ज आपराधिक मुकदमों में राहत दिलाने के एवज में ली गई थी।